ऑनलाइन भारतीय दर्शन एवं संस्कृति बचाओ प्रतियोगिता

बोकारो: बोकारो टील सिटी काॅलेज के मनोविज्ञान विभाग की ओर से आगामी सात अगस्त को ऑनलाइन भारतीय दर्शन एवं संस्कृति बचाओ प्रतियोगिता का आयोजन करवाया जा रहा है जिसमें इंटरमीडिएट स्नातक स्नातकोत्तर के सभी संकायों के विद्यार्थियों की सहभागिता रखी गयी है । उत्कृष्ट प्रदर्शन वाले विद्यार्थियों को प्राचार्य से पुरस्कृत करवाये जाने की मनोविज्ञान विभाग की योजना भी है ।

वक्ता के रूप में मुख्य अतिथि कार्तिक उरांव कॉलेज , रातू , राँची के प्राचार्य डॉ रंजीत मिश्रा , सिसई कॉलेज सिसई ( राँची यूनिवर्सिटी ) के शिक्षाविद डॉ राधे श्याम सिंह को आमंत्रित किया गया है । कुछ दर्शन शास्त्रियों को भी भारतीय दर्शन एवं संस्कृति पर महत्वपूर्ण उद्बोधन के लिये बुलाया जाएगा ।

आयोजकनकर्ता सह विभाग के व्याख्याता डॉ प्रभाकर कुमार ने बतलाया कि संस्कृति किसी भी देश , जाति व समुदाय की आत्मा होती है । संस्कृति से ही देश जाति व समुदाय के उन समस्त संस्कारो का बोध होता है जिनके सहारे वह अपने आदर्शों , जीवन मूल्यों आदि का निर्धारण करते हैं । भारतीय दर्शन और संस्कृति का अनुकरण युवाओं को आत्मसात करने की जरूरत ताकि उनके समग्र व्यक्तित्व निर्माण की आधारशिला रखी जा सके । इन्हीं उद्देश्यों के तहत यह प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है । विद्यार्थियों के व्यक्तित्व में समग्र , सर्वांगीण व चतुर्दिक विकास हो , एक सभ्य सुसंस्कृत और समाजोपयोगी व्यक्तित्व निर्माण वाला राष्ट्र के निर्माण में अद्वितीय भूमिका का निर्वहन हो पाये ।