महीने बाद दुगदा वाशरी प्लांट को चालू करने का मिला आदेश 

सीटीओ प्राप्त होने के बाद प्लांट को ले कई अटकलों का पटाक्षेप ।

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: कोल इंडिया का अनुषांगिक भारत कोकिंग कोल लिमिटेड के झारखद में बोकारो जिले के दुगदा में स्थापित दुगदा कोलवाशरी प्लांट को चालू करने एवं कोयला डिस्पेच करने का पर्यावरण नियंत्रण बोर्ड रांची का (सीटीओ) आदेश 6 महीने बाद शनिवार के सुबह को वाशरी प्रबन्धन को प्राप्त हो गया है । आदेश पत्र प्राप्त होते ही दुगदा वाशरी प्रबन्धन वाशरी प्लांट को चालू करने की प्रक्रिया में लग गयी है । पीओ एन सी सामन्तो ने प्लांट को चालू करने के लिए जिला खनन विभाग बोकारो पहुच कर कागजी प्रक्रिया पूरी करने में लग गए हैं ।कागजी प्रक्रिया पूरी होने के बाद कोलियरियों से कोयला आपूर्ति होगी , जिसके बाद प्लांट चालू कर कोयला परिष्करण कर कोयला स्टील प्लांट में डिस्पेच शुरू कर दिया जाएगा । पीओ एन सी सामंता ने बातया की 22 मई 2021 को दुगदा कोलवाशरी प्लांट से एक रैक कोयला डिस्पेच के बाद प्लांट को बन्द कर दिया गया था । जो पिछले 6 महीनों तक लगातार बन्द रहा तथा उतपादन ठप्प रहा । पीओ ने बताया कि 3 से 4 दिनों में प्लांट का कोयला डिस्पेच शुरू कर दिया जाएगा ।

यूनियन व कर्मचारियों में उत्साह

छह महीने की लंबे समय के बाद दुगदा वाशरी प्लांट का चालू करने की आदेश के बाद यूनियन व कर्मचारियों में खुशी की लहर है । जनता मजदूर संघ के दुगदा सचिव गुलाब चन्द्र चौहान , इंटक शाखा सचिव अजय कुमार सिंह एवं बीएमएस के धकोमसं के क्षेत्रीय सचिव एसके मिश्रा ने प्लांट चालू होने की आदेश पर हर्ष व्यक्त केया है । यूनियन सचिव गुलाब चन्द्र चौहान एवं सचिव अजय कुमार सिंह ने कहा कि वाशरी प्लांट बन्द होने के बाद प्लांट चालू की मांग को लेकर प्लांट में प्रबन्धन के विरुद्ध धरना , घेराव और पीओ कार्यालय के समक्ष पदर्शन आदि आंदोलन तेज कर दिया गया था । आगे भी लम्बी आंदोलन का अल्टीमेटम प्रबन्धन को दिया गया था । चौहान ने बताया कि प्लांट को चालू करने का आदेश आने पर कई अटकलें समाप्त हो गयी