अस्पताल में जरूरतमंद मरीजों के बेड तक पाइप लाइन से ऑक्सीजन की सुविधा शुरू

– सदर अस्पताल, गोड्डा में स्थापित पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का मुख्यमंत्री ने किया ऑनलाइन उद्घाटन

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा : सदर अस्पताल में भर्ती जरूरतमंद मरीजों को अब सीधे पाइप लाइन से ऑक्सीजन आपूर्ति हो सकेगी। बुधवार को सदर अस्पताल में निर्मित पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने रांची से ऑनलाइन उद्घाटन किया।
मरीजों के इलाज में ऑक्सीजन की जरूरत के मद्देनजर यहां के सदर अस्पताल में हवा से ऑक्सीजन बनाने वाले प्रेशर स्विंग एडसोर्पसन (पीएसए) प्लांट स्थापित किया गया है। बुधवार को झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता सहित अन्य की गरिमामयी उपस्थिति में रिम्स ऑडिटोरियम से पीएसए प्लांट का ऑनलाइन उद्घाटन किया गया। सदर अस्पताल में बोरियो विधानसभा क्षेत्र के विधायक लोबिन हेंब्रम, उप विकास आयुक्त चंदन कुमार, सिविल सर्जन डॉ मंटू टेकरीवाल, अनुमंडल पदाधिकारी, गोड्डा ऋतुराज सहित अन्य की गरिमामयी उपस्थिति में फीता काटकर प्रेशर स्विंग एडसोर्पसन (पीएसए) प्लांट का उद्घाटन किया गया।
मौके पर विधायक श्री हेंब्रम ने कहा कि पीएसए प्लांट के स्थापित होने से समीपवर्ती क्षेत्रों के लोगों को ऑक्सीजन की सुविधाएं निर्बाध रूप से प्राप्त होगी। आम जनों के इससे काफी सुविधा मिल सकेगी।
सिविल सर्जन डॉ मंटू टेकरीवाल ने पीएसए प्लांट को लेकर विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि कोविड-19 के संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर भारत सरकार के द्वारा पीएम केयर्स मद से सदर अस्पताल, गोड्डा में डीआरडीओ के द्वारा 1000 एलपीएम क्षमता का पीएसए प्लांट स्थापित किया गया है, ताकि आम जनों को विषम परिस्थिति में ऑक्सीजन की सुविधाएं मुहैया कराई जा सके। इसको स्थापित करने में विभिन्न विभागों का सहयोग मिला।

किस किस विभाग का मिला सहयोग

सिविल सर्जन डॉक्टर टेकरीवाल के अनुसार, ऑक्सीजन पाइप लाइन के लिए अदानी कंपनी द्वारा सीएसआर मद से 23 लाख रुपए का कार्य किया गया। 250 केवीए क्षमता वाले जनरेटर सेट के लिए आपदा प्रबंधन मद से 16 लाख 80 हजार व्यय किया गया। सिविल वर्क भवन निर्माण विभाग द्वारा 11 लाख 55 हजार में तैयार किया गया। विद्युत विभाग द्वारा 250 केवीए का ट्रांसफार्मर लगाया गया।
उन्होंने बताया कि पीएसए प्लांट से ऑक्सीजन सप्लाई हेतु सदर अस्पताल के 157 बेड तक पाइप लाइन बिछाया गया है, ताकि निर्वाध रूप से ऑक्सीजन दिया जा सके। आपातकालीन सेवा के लिये 12 प्वाइंट्स का मैनीफोल्ड स्थापित किया गया है। इसके संचालन के लिए दस कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है। मौके पर सहकारिता पदाधिकारी सह विधि शाखा प्रभारी सुजीत कुमार, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी अभय कुमार, सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ प्रभा रानी प्रसाद, अन्य पदाधिकारी गण, स्वास्थ्य विभाग के कर्मी सहित अन्य मौजूद थे।