बाल अधिकारों की रक्षा के सर्वप्रथम वाहक माता पिता : प्रभाकर

बोकारो:आज सिटी सेंटर , सेक्टर 4 थाना के समीप एटवाल कॉलोनी ( झुग्गी ) मे बाल अधिकार सरंक्षण जागरूकता अभियान मनोवैज्ञानिक सह बाल अधिकार कार्यकर्ता डॉ प्रभाकर कुमार के द्वारा चलाई गई । युवाओं की सहभागिता से मास्क वितरण बच्चों व समुदायों के बीच किया गया ।

डॉ प्रभाकर कुमार ने बच्चों के अधिकारों व बाल कानून को परिभाषित करते हुए बतलाया कि बाल अधिकारों की सुरक्षा माता पिता अभिभावकों के संवेदनशीलता के ऊपर निर्भर करती है , इन्हीं परिपेक्ष्य में बाल अधिकार जागरूकता चलाई जा रही है । बाल विवाह , बाल श्रम , बाल दुर्व्यवहार व दुर्व्यापार , विभिन्न तरह के बाल उत्पीड़न , बाल यौन उत्पीड़न की घटनाओं का जिक्र उदाहरणों के साथ किये । सुरक्षित स्पर्श असुरक्षित स्पर्श , बालिका सुरक्षा में माताओं बहनों की भूमिका , पोक्सो कानून की परिसीमाओं की अद्यतन जानकारी रखी । सामाजिक पूर्वाग्रहों लिंग असमानता , भूर्ण हत्या , नशे मुक्त बचपन , अपराध मुक्त बचपन , बालिका सुरक्षा आदि का संकल्प बच्चों समेत माता पिता अभिभावकों के समक्ष करवाया गया ।

बच्चों से प्रश्न आदि पूछकर उनके उत्साहवर्धन करते हुए स्टेशनरी सामग्री , चॉकलेट आदि देकर पुरस्कृत किया गया । संकट कालीन नो 1098 के विस्तृत उपयोग की चर्चा करते हुए पुलिस थानों में बाल कल्याण पुलिस पदाधिकारी की भूमिका जवाबदेही की चर्चा बच्चों के व्यक्तित्व निर्माण के संबंध में रखी गयी । अभियान में युवाओं मे कृष्ण कांत तिवारी , इंद्रजीत कुमार , ऋषभ कुमार व स्थानीय लोगों की उपस्थिति रही ।