पार्षदों ने शहर की सफाई के मुद्दे पर आकांक्षा कंपनी की कार्यशैली पर उठाए सवाल

– बोर्ड की पिछली बैठक में जिस प्रस्ताव को पार्षदों ने नकारा था, उसे कार्यवाही पंजी में स्वीकृत दिखाने पर भड़के पार्षद

-नगर परिषद की बोर्ड बैठक में पार्षदों ने उठाये विभिन्न मुद्दे
गोड्डा: शुक्रवार को नगर परिषद की बैठक नगर अध्यक्ष जितेन्द्र कुमार की अध्यक्षता मे आयोजित की गई । जिसमें शहर की सफाई के लिए नियुक्त आकांक्षा कंपनी के द्वारा डोर टू डोर कार्य नहीं किये जाने पर सभी पार्षदों ने असंतोष जताया।
वार्ड पार्षद प्रीतम गाडिया ने पेयजल आपूर्ति योजना की धीमी गति पर गहरा असंतोष व्यक्त किया। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि इस मुद्दे को बार बार बोर्ड की बैठक मे उठाने के बावजूद कार्यवाही क्यों नहीं की जा रही है? अगर नगर परिषद सुविधा नहीं देती तो जल कर अविलंब बंद किया जाना चाहिए ।
सभी पार्षदों ने लाईट दुरूस्त करवाने की मांग बोर्ड मे रखी। वहीं बोर्ड की पिछली बैठक में मेला मैदान मे दुकान बनने के प्रस्ताव को पार्षदो ने अस्वीकार कर दिया था । लेकिनकार्यवाही पंजी में स्वीकृत दिखाते हुए दर्शाया गया था। इसका विरोध उपाध्यक्ष बेणु चौबे, शाहिल मेहरा, स्वीटी कुमारी,प्रीतम गाडिया,कमली मुर्मू,धर्मेन्द्र हाजरा,मो ईदरीश,शमशेर आलम,सोनी देवी,गुणानंद झा,दिलिप साह,वेद प्रताप ठाकुर ने दर्ज करवाया।वार्ड पार्षद प्रीतम गाडिया ने कहा कि जब पिछ्ली बैठक में सभी पार्षदों ने मेला मैदान में दुकान बनाने संबंधी प्रस्ताव पर असहमति व्यक्त की थी तो इसे कैसे स्वीकृत दर्शाया जा रहा है। अस्वीकृत प्रस्ताव को स्वीकृत दर्शाया जाना इस बोर्ड का अपमान है।जब पार्षदों की बात का महत्व ही नहीं है, तो बोर्ड की बैठक का औचित्य ही समझ में नहीं आता है। बैठक में कुल 13 पार्षदो की उपस्थिति दर्ज कराई ।