पात्रता की जाँच के बाद निर्गत की जाएगी राशन कार्ड

हिरणपुर (पाकुड़): आपूर्ति विभाग द्वारा छूटे हुए गरीब परिवारों को अब लाल राशन कार्ड के जगह ग्रीन कार्ड उपलब्ध कराई जाएगी। इसको लेकर सभी प्रकार की तैयारी कर दिशा निर्देश दे दी गई है। झारखण्ड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना अंतर्गत गरीबो को को ग्रीन कार्ड उपलब्ध कराई जाएगी। प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी डा. नोरिक रविदास ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्रीन कार्ड के लिए सभी गरीब परिवारों को ऑनलाइन आवेदन किया जाना है। कार्ड से वंचित गरीब परिवार को 30 सितम्बर 2020 तक ऑनलाइन आवेदन कर लेना है ।इसके बाद सम्बन्धित आवेदनों की पात्रता की जाँच 1 से 10 ऑक्टोबर 2020 तक पंचायत स्तरीय जाँच दल (निगरानी समिति ) द्वारा किया जाएगा। इसमे आवेदको की सरकारी सेवा , पंजीकृत उद्दम के स्वामी , दो रूम से अधिक पक्का मकान , पाँच एकड़ सिंचित भूमि , चार पहिये वाहन , कृषि यंत्र ट्रेक्टर सहित फ्रिज आदि रहने पर राशन कार्ड की सुविधा नही दी जाएगी। इसकी गहन रूप से जाँच की जाएगी। ग्रीन कार्ड के लिए पहाड़िया ,अनुसूचित जनजाति , अनुसूचित जाति , विधवा , परित्यक्ता , 40 प्रतिशत से अधिक विकलांग , भिखारी , गृह विहीन , कूड़ा चुनने वाले आदि को प्राथमिकता दी जाएगी। इसमे आवेदन करने वाले परिवार को आधार , बैंक खाता , मोबाइल नम्बर आदि की सूचनाएं देना अनिवार्य है। इसमे 18 वर्ष से अधिक उम्र के विवाहित ,विधवा , परित्यक्ता गरीब महिलाओ को मुखिया मानी जायेगी व इसी के आधार पर आवेदन किया जाएगा। उन्होंने आगे बताया कि राशन कार्ड पारदर्शी रूप से भौतिक जांचोपरांत ही निर्गत की जाएगी। सभी कार्ड का वितरण 15 नवम्बर 2020 को की जाएगी।