फुलांग पंचायत समिति सदस्य ने भाजपा विधायक पर लगाया गंभीर आरोप, कहा चापकल के नाम पर सरकारी राशि का किया जा रहा दुरुपयोग

मयूरहंड(चतरा)। सिमरिया विधायक किशुन कुमार दास के इमांदारी पर विधायक मद से चापानल लगाने में मयूरहंड प्रखंड के फुलांग पंचायत समिति सदस्य शंकर रजक ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं। श्री रजक ने चापानल आवंट में विधायक श्री दास पर सरकारी राशि का दुरुपयोग करने का अरोप लगाते हुए कहा है कि विधायक द्वारा पेयजल आपूर्ति को लेकर पीएचइडी विभाग के माध्यम से मयूरहंड प्रखंड के दस पंचायतों में जारी स्थल सूची में वैसे लोगों को लाभ दिया गया है, जिनका पहले से हीं चारदीवारी में चापानल अधिष्ठापित है। इसके अलावा लिस्ट में वैसे लोगों के नाम शामिल हैं, जो विधायक व मंडल स्तर पर भाजपा नेताओं के करीबी हैं। इसके साथ ही पीएचइडी विभाग द्वारा मानसून आने के बाद क्षेत्र में चापानल अधिष्ठापित कर खानापूर्ति की जा रही है, क्योंकी झारखंड पठारी इलाका होने के कारण दिन प्रतिदिन जलस्तर निचे जा रहा है, बावजूद विधायक निधि से बरसात के मौसम में चापानल अधिष्ठापित करवाना विधायक के इमानदारी पर भी प्रश्न चिन्ह खड़ा करता है। श्री रजक ने आगे आरोप लगाया है कि फुलांग पंचायत में विधायक ने महुंगाई गांव निवासी सुबोध सिंह के नाम पर चापानल की स्वीकृति दी है, जबकी श्री सिंह के घर के अंदर पहले से ही चापानल अधिष्ठापित है। कमोवेश ऐसे हीं प्रखंड क्षेत्र में दर्जनों लोगों का नाम विधायक श्री दास द्वारा जारी लिस्ट में है। जारी सूची के साथ क्षेत्र में पीएचईडी द्वारा कराए जा रहे बोरींग की भी जांच कराने की मांग श्री रजक ने सरकार से की है। ताकी सरकारी राशि का दुरुपयोग ना हो और इसका समुचीत लाभ आम लोगों को मिले।