अवैध बालू उत्खनन के विरुद्ध पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 9 ट्रैक्टर जब्त

4 घंटे मस्कत के बाद मिली सफलता
मयूरहंड(चतरा)। मयूरहंड थाना क्षेत्र के पेटादरी पंचायत अंतर्गत बड़ाकर नदी के बीरा घाट से अवैध बालू उत्खनन करने वालों के विरुद्ध 10 जून को की गई बड़ी कार्रवाई। अवैध बालू उत्खनन की गुप्त सूचना पर प्रभारी अंचलाधिकारी विजय कुमार, पुलिस निरीक्षक शिव प्रकाश व थाना प्रभारी कौशल कुमार सिंह दलबल के साथ बीरा घाट पहुंचे तो अचानक पुलिस को देखते ही उत्खन में जुटे ट्रैक्टर संचालक ट्रैक्टर को ले जाने का प्रयास किया, लेकिन नदी के बालू में फंस गया ट्रैक्टर और ड्राइवर भाग गए। उसके बाद बालू उत्खनन में जुटे आस-पास के उपद्रवी प्रशासन के कार्य में बाधा पहुंचाने का प्रयास किया, तो सीओ के बुलावे पर इटखोरी थाना प्रभारी निरंजन कुमार मिश्रा, सहायक अवर निरीक्षक उमानाथ सिंह, कृष्ण कुमार सिंह, श्री राम, पांडव गोराई समेत बड़ी संख्या में जिला बल व आईआरबी के जवान मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। अंचला धिकारी के निर्देश पर अवैध बालू उत्खन्न में लगे 9 ट्रैक्टरों को जब्त किया गया। सीओ ने बताया कि सभी जब्त वाहनों के विरुद्ध विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। वहीं पुलिस इंस्पेक्टर ने कहा कि बालू तस्करों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जाएगी। मयूरहंड थाना प्रभारी के सूजबूझ से करीब 4 घंटे के अथक प्रयास के बाद नदी में फसे सभी 9 ट्रैक्टरों को एक-एक कर निकाला गया। ज्ञात हो कि बराकर नदी के बीरा घाट सहित कई घाटों से बालू-तस्करी वर्षों से स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से माफियाओं के संगठित गिरोह द्वारा किया जा रहा है। कुछ घाटों को स्थानीय ग्रामीण स्तर पर बोली लगाने वालों को वसुली का अधिकार सौंप दिया गया है। उक्त नदी से अवैध खनन किए बालू को बड़े पैमाने पर चैपारण थाना क्षेत्र में भंडारण कर मंहगे दामों में दूसरे प्रदेशों में वर्षों से भेजा जा रहा है। माफियाओं का बालू-तस्करी का यह धंधा इस क्षेत्र में वर्षों से फल फूल रहा है।