अपनी विफलता को छिपाने के लिए पुलिस प्रशासन भाजपा नेताओं पर दर्ज कर रही प्राथमिकी: राजीव

– महागामा के बाबूपुर में धार्मिक स्थलों को तोड़े जाने से भाजपा नेता खफा
गोड्डा: भाजपा जिला अध्यक्ष राजीव मेहता ने कहा है कि विगत दिनों महागामा प्रखंड के बाबूपुर घाट में स्थित बजरंगबली की प्रतिमा को एक विशेष समुदाय द्वारा तोड़फोड़ किया गया, जिससे बाबूपुर में स्थिति तनावपूर्ण हो गई। स्थिति को सामान्य बनाने के लिए दोनों समुदाय के प्रतिनिधियों को महागामा थाना बुलाया था। लेकिन थाना में प्रशासन के असहयोगात्मक रवैया से वार्ता विफल हो गई। वहीं स्थानीय प्रशासन अपनी नाकामी को छुपाने के लिए भाजपा के पदाधिकारी पर शांति भंग करने का झूठा केस दर्ज किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि स्थानीय प्रशासन राज्य सरकार एवं सत्ता पक्ष के नेताओं के इशारे पर झूठे मुकदमे कर रही है, पर भाजपा के कार्यकर्ता इससे डरने वाले नहीं हैं। भाजपा का एक-एक कार्यकर्ता एवं हिन्दू समाज हिंदुओं के मंदिर की रक्षा हेतु कृत संकल्पित है। आखिर वह कौन सी शक्ति है जिसके जवाब में मूर्ति तोड़ने वाले को प्रशासन बचा रहा है और वार्ता करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं पर तुरंत मुकदमा दायर किया जा रहा है?
श्री मेहता ने कहा कि जिला प्रशासन शीतला मंदिर में तोड़ फोड़ करने वाले नामजद अभियुक्तों पर करवाई न कर राजनीति दवाब में लीपा-पोती करती है। इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति होती है तो हिन्दू समाज मंदिरों की रक्षा हेतु सड़कों पर उतरने को बाध्य होगा।
भाजपा जिला अध्यक्ष ने कहा कि कोरोनो काल में युवा अध्यक्ष नवीन कुमार एवं उनके परिवार के लोग कोरोना के नियमों का पालन करते हुए होम कर रहे थे। ऐसी मान्यता है होम करने से वातावरण शुद्ध होता है। लेकिन दूसरे दिन उन पर केस कर दिया गया। केस आखिर किसके इशारे पर किया गया! ऐसी स्थिति में हम उन पदाधिकारी के खिलाफ भी न्यायालय जाएंगे। प्रशासन को चाहिए निष्पक्ष होकर कार्य करें न कि किसी पार्टी का कार्यकर्ता बनकर।
भाजपा के जिला महामंत्री मुरारी चौबे ने कहा कि इन घटनाओं की पूरी जानकारी प्रदेश से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर भेजी जा रही है।
जरूरत पड़ने पर भाजपा के कार्यकर्ता सड़क पर उतर कर प्रशासन की दोरंगी नीति का विरोध करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *