फुलापहाड़ी हत्याकांड में पुलिस ने दो नाबालिग सहित तीन को किया गिरफ्तार

लिट्टीपाड़ा: फुलपाहड़ी हत्या कांड के एक मुख्य अभियुक्त समेत दो नाबालिक बालक को पुलिस गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया।और हत्या में उपयोग किया गया एक देशी कट्टा को कुआँ से बरामद कर लिया गया।इसकी जानकारी थाना परिसर में प्रेस कांफ्रेंस कर एसडीपीओ अजित कुमार बिमल ने दी। एसडीपीओ ने बताया कि विगत 1 मई को फुलपाहड़ी केवट टोला में आम तोड़ने को लेकर दो परिवार के बीच हुए विवाद में पुलिस जवान बिरजू केवट व मोनू केवट की हत्या एक देशी कट्टा से गोली चला कर की गयी थी। जिसमें बास्की केवट के पुत्र मोनू केवट व बिरजू केवट एक दूसरे के बीच हाथा पायी हो रहा था कि इसी बीच मोनू केवट का बड़ा भाई सोनू केवट ने बिरजू केवट को पीछे से एक देशी कट्टा से पिट पर गोली मार दिया।गोली बिरजू के पिट को चीरते हुए मोनू केवट के सीने में धंस गया। सोनू केवट केवल बिरजू केवट को मारना चाहता था ,भूल वस अपने भाई को भी गोली लग गयी।जहा घटना स्थल पर ही बिरजू केवट ने दम तोड़ दिया। जबकि मोनू केवट सदर अस्पताल पाकुड़ में दम तोड़ा था।घटना के पश्चात सोनू केवट हत्यार को जमीन पर फेंक दिया।आनन फानन में सोनू के चाचा अस्तिका केवट व उनके दो भतीजे (नाबालिक) ने मिलकर देशी कट्टा को बगल के कुआँ में फेंक दिया और उसके ऊपर से कुआँ में कचरा डाल दिया।उन्होंने बताया की पुलिस इंस्पेक्टर प्रभु सहाय एक्का के नेतृत्व में थाना प्रभारी अभिषेक राय ने कुँआ में मशीन लगाकर पानी फेंककर हत्यार को बरामद किया गया।छापेमारी दल में थाना प्रभारी अभिषेक राय के साथ एएसआई सुरेश उरांव,परशुराम सिंह समेत कई पुलिस जवान सामिल था।