मोड़े माझी की बैठक को पुलिस ने किया असफल

महेशपुर : थाना क्षेत्र के लौगांव गांव में दो पक्षों के बीच चल रहे जमीनी विवाद को लेकर बुलाए गए मोड़े माझी की बैठक को लेकर एसडीपीओ महेशपुर नवनीत की नेतृत्व में माहेशपुर एवं पाकुडि़या थाना के पुलिस अधिकारी पुलिस बल के जवानों के साथ लौगांव गांव पहुंची। खेल मैदान में जमीन विवाद से संबंधित प्रथम पक्ष के शिवजतन मुर्मू को एसडीपीओ नवनीत ने समझाया की जमीन से संबंधित विवाद को इस तरह मोड़े माझी करना गलत है विवाद के समाधान के लिए अंचल कार्यालय के सीओ तथा संबंधित राजस्व कर्मचारी की आवश्यकता होती है। आप लोगों के जमीनी विवाद का समाधान उन लोगों की उपस्थिति में किया जा सकता है। इसलिए आप सभी महेशपुर थाना चले वहां सीओ, सीआई एवं संबंधित कर्मचारी की उपस्थिति में जमीन संबंधी मामले को निपटाया जाएगा। एसडीपीओ के समझाने के बाद प्रथम पक्ष के शिवजतन मुर्मू महेशपुर थाने जाने पर सहमत हुए प्रथम पक्ष के शिवजतन मुर्मू और उनके लोग एसडीपीओ के साथ महेशपुर थाने चले गए। बताते चलें कि लौगांव में मौजा संख्या 52 के जमाबंदी संख्या 13 के कुल रकबा 34 बीघा 3 कट्ठा 15 धूर जमीन को लेकर प्रथम पक्ष के शिवजतन मुर्मू तथा द्वितीय पक्ष के कलेश्वर हांसदा, श्रीतन हांसदा एवं अन्य के बीच विगत कई वर्षों से विवाद चल रहा था।इस जमीनी विवाद को लेकर इसके पूर्व भी दो बार मोडे माझी बुलाई गई थी जिसे पुलिस की सक्रियता से टाल दिया गया था। इस संबंध में शिवजतन मुर्मू ने बताया कि जमीन संबंधित मामले को लेकर न्यायालय के द्वारा उसको जमीन का हक दिलाया गया था। परंतु द्वितीय पक्ष के द्वारा जबरन उसके जमीन पर धान रोप दिया और काट भी लिया। जिसको लेकर इस बार भी 22 नवंबर से 23 नवंबर दो दिन के लिए जमीनी विवाद को लेकर ग्रामीणों के साथ बैठक रखा गया था इस संबंध में थाने में एक आवेदन भी दी गई थी। इस संबंध में थाना प्रभारी महेशपुर सुनील कुमार रवि ने अनुमंडल पदाधिकारी पाकुड़ लिखित रूप से सूचना भी दी थी सोमवार 22 नवंबर को भी पुलिस की सक्रियता से जमीनी विवाद को लेकर होने वाली मोड़े माझी की बैठक को विफल कर दिया गया। समाचार भेजे जाने पर लौगांव में पुलिस कैंप कर रही थी