पोटका: टीकाकरण को लेकर लोगों में दिख रहा उत्साह, सेंटर पर जुट रही ग्रामीणों की भीड़

पोटका: कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर पोटका प्रखंड क्षेत्र के लोगों मे रूझान बढ़ता दिख रहा है। यही कारण है कि अब हर क्षेत्र से लोग निकलकर वैक्सीन लेने लगे है। पोटका प्रखंड क्षेत्र में आज चार पंचायत यथा जामदा, जानमडीह, हेंसलआमदा एवं सानग्राम में लगाये गये शिविर में पंचायत क्षेत्र के कुल 475 लोगों ने कोविशिल्ड वैक्सीन का पहला डोज लिया। इसमें जामदा पंचायत के सर्वाधिक 240 लोगों ने टीका लिया, जबकि जानमडीह पंचायत में 115, सानग्राम पंचायत मे 76 एवं हेंसलआमदा पंचायत में 44 लोगों ने वैक्सीन लिया। इसके पूर्व हेंसलआमदा मे लगाया गये दो बार के शिविर मे एक व्यक्ति भी वैक्सीन नहीं लिया था, जबकि जामदा एवं जानमडीह में भी काफी कम संख्या में लोगों ने टीका लिया था। जानमडीह पंचायत में वैक्सीनेशन का शुभारंभ कार्यकारी समिति प्रधान मालती मार्डी ने वैक्सीन का पहला डोज लेकर किया, जबकि हेंसलआमदा पंचायत में वैक्सीनेशन का शुभारंभ लुखीमुनी सरदार ने वैक्सीन लेकर किया, जिसके पश्चात पंचायत क्षेत्र के विभिन्न के लोगों ने टीका लिया। जामदा पंचायत के पंचायत समिति सदस्य हेमंत नायक ने भी वैक्सीन का पहला डोज लेकर ग्रामीणों को प्रोत्साहित किया। जामदा मे टीका लेने के लिए सुबह से लोगों की भीड़ देखी गयी।

पोटका के अंचलाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी इम्तियाज अहमद लगातार क्षेत्र मे घूम-घूमकर स्थिति की जानकारी लेने के साथ-साथ लोगों को टीका लेने के प्रति जागरूक करते रहे, प्रशिक्षु उप समाहर्ता अभय द्धिवेदी, अंचल निरीक्षक उपेंद्र कुमार, कार्यकारी समिति प्रधान श्यामली नायक, प्रतिनिधि पोल्टू नायक, मालती मार्डी, नयन कमल महापात्र, लुखीमनी सरदार, झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ पोटका वन के अध्यक्ष श्यामल मंडल, पोटका टू के सचिव दशरथ सरदार भी लगातार लोगों के बीच रहकर टीकाकरण को सफल बनाने मे अहम योगदान दे रहे हैं।

जिला उपायुक्त के निर्देशानुसार वैक्सीनेशन को लेकर पोटका सीओ सह बीडीओ की रणनीति काफी कारगर हुई है। वर्तमान मे वैक्सीन लेने के प्रति लोगों मे रूझान बढ़ा है। पूर्व मे अनेक टीकाकरण केंद्र मे नाम मात्र के लोग वैक्सीन लेने आते थे, तो कुछ क्षेत्र में लोग बिल्कुल वैक्सीन नहीं लेते थे, परंतु सीओ सह बीडीओ इम्तियाज अहमद ने मामले को गंभीरता से लिया और उन्होंने स्वयं गांव-गांव में जाकर जनजागरूकता अभियान के साथ-साथ इस कार्य मे पंचायत प्रतिनिधि, ग्राम प्रधान, शिक्षक, सेविका, सहिया एवं प्रभुद्ध नागरिकों को भी जोड़े और उनसे सहयोग की अपील किया। पंचायतों मे बैठकें होने लगी, लोगों मे भ्रांतियां दूर किये जाने लगा। टीकाकरण हेतु लोगों को सारी सुविधाएं दी जाने लगी, जिसके बाद लोगों मे टीका को लेकर विश्वास बढ़ा और अब लोग घर से निकलकर कर टीका लेने लगे हैं। प्रखंड के हल्दीपोखर पूर्वी पंचायत के 95 प्रतिशत लोगों ने टीका ले लिया है, जो जिले का सर्वाधिक टीका लेनेवाला पंचायत बन गया है।