सरकारी संपत्तियों के निजीकरण से देश में बढ़ेगी बेरोजगारी: ओझा

नवनिर्वाचित शाखा अध्यक्ष संजय कुमार ओझा ने स्टेशन प्रबंधक को सौंपा ज्ञापन
पाकुड़ः  आज ईस्टर्न रेलवे मेन्स यूनियन पाकुङ शाखा नवनिर्वाचित सचिव संजय कुमार ओझा ने महाप्रबंधक पूर्व कोलकाता को स्टेशन प्रबंधक पूर्व रेलवे,पाकुड़ के माध्यम से एक ज्ञापन सौंपा।ज्ञात हो कि आज ईस्टर्न रेलवे मेन्स यूनियन,कोलकाता के द्वारा महाप्रबंधक पूर्व कोलकाता के समक्ष केंद्र सरकार के द्वारा प्रस्तावित राष्ट्रीय मुद्रीकरण,पाइपलाइन के विरोध में एक जनसभा का आयोजन किया जा रहा है।इसके माध्यम से सरकार के निजीकरण,निगमीकरण तथा राष्ट्रीय परिसंपत्तियों के को निजी हाथों में सौंपने की साजिश के खिलाफ विरोध दर्ज किया जा रहा है तथा यह बताने की कोशिश की जा रही है तथा यह बताने की कोशिश की जा रही है कि सरकार के इस कदम से राष्ट्रीय संपत्तियों का दोहन कर निजी कंपनियों और अधिक आर्थिक रूप से संपन्न हो जाएगी तथा देश के युवा वर्ग बेरोजगारी,शोषण का शिकार होगा। अतः ईस्टर्न रेलवे मेन्स यूनियन द्वारा घोषणा की गई है कि पूर्व रेलवे में किसी भी निजी गाड़ियों का परिचालन नहीं होने दिया जाएगा साथ ही पूर्व रेलवे की किसी संपत्ति का निजीकरण का विरोध किया जाएगा।
इस बाबत शाखा सचिव संजय कुमार ओझा ने अपने कार्यकर्ताओं सहित स्टेशन प्रबंधक,पूर्व रेलवे, पाकुड़ के माध्यम से महाप्रबंधक पूर्व रेलवे कोलकाता को ज्ञापन सौंपकर अपनी प्रतिलिपि मंडल रेल प्रबंधक पूर्व रेलवे हावड़ा को भेजा है।इसके माध्यम से नलहाटी से गुमानी तक कार्यरत रेलकर्मी का प्रतिनिधित्व करते हुए सरकार के इस कर्मचारी एवं श्रमिक विरोधी नीति के प्रति विरोध दर्ज किया है।
इस अवसर पर शाखा सचिव सहित संयुक्त सचिव फजले रहमान, सह-सचिव विक्टर विजय जेम्स, निलेश प्रकाश शाखा सभासद राम कुमार यादव,श्यामल माल,निरुपमा सिंह,तबरेज अंसारी,रविंद्र कुमार प्रदीप कुमार,गौरांग सरदार सहित कई रेलकर्मी मौजूद थे।