रोजमर्रा के कार्यों में हिंदी को दें बढ़ावा: उपायुक्त

गोड्डा: उपायुक्त भोर सिंह यादव ने हिंदी दिवस के मौके पर जिलेवासियों को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा कि हिंदी भाषा ने हमेशा पूरे देश को एकता के सूत्र में पिरोया है।
देश के संविधान निर्माताओं ने 14 सितंबर, 1949 को हिंदी को संघ की राजभाषा के तौर पर स्वीकार करने का फैसला किया था। उस ऐतिहासिक क्षण के उपलक्ष्य में प्रतिवर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस के तौर पर मनाया जाता है। भारतीय स्वाधीनता संग्राम के दौरान हिंदी में प्रकाशित होने वाले पत्र-पत्रिकाओं ने देशवासियों को अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ जागरुक करने का कार्य किया था। तेजी से बढ़ते अंग्रेजी भाषा के वर्चस्व से जहां दूसरी भाषाओं का प्रचार प्रसार कम हो रहा है।
वहीं हिंदी भाषा के प्रभाव क्षेत्र में लगातार वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि समय के साथ भाषा में परिवर्तन अवश्य आते है, लेकिन हिंदी ने अपने वर्चस्व को अभी तक कायम रखा है। उन्होंने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा कि हमें भी अपने रोजमर्रा के कार्यो में हिंदी भाषा को बढ़ावा देना चाहिए।