काम के साथ विरोध भी: एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य कर्मियों ने पीपीई किट पर तख्ती लगाकर किया विरोध

रांची: झारखंड एमपीडब्ल्यू कर्मचारी संघ के बैनर तले आज चरणबद्ध आंदोलन का आठवां दिन है और आज इस आंदोलन के तहत राज्य के सभी जिले के एमपीडब्ल्यू अपने शरीर और पीपीकिट पर विभाग में समायोजन हेतु तख्ती लगाकर कार्य कर रहे हैं और सरकार से मांग कर रहे हैं की हम सभी एमपीडब्ल्यू जो कि आज 13 सालो से विभाग में सेवा दे रहे हैं , एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य कर्मी मांग कर रहे हैं की 13 सालों से विभाग में सेवा देने के कारण हम सभी कर्मियों का विभाग में सीधा समायोजन किया जाए और समायोजन होने तक अविलंब मानदेय में वृद्धि किया जाए । तख्ती लगाकर विरोध करने का कार्यक्रम सभी जिलों में 14 जून 2021 तक चलेगा , तत्पश्चात 15 जून को सभी कर्मी कलम बंद हड़ताल में रहेंगे , 16 जून को सभी कर्मी अपने-अपने जिला सिविल सर्जन कार्यालय में सिविल सर्जन को अपना मांग पत्र सौंपेंगे , अगर इससे भी सरकार और विभाग के द्वारा हमारी मांगों पर ठोस पहल, निर्णय , विचार नहीं लेती है तो 17 जून 2021 से हम सभी एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य कर्मी अन्न छोड़कर भूख हड़ताल में रहेंगे । महासचिव कार्तिक उरांव ने बताया कि आज चरणबद्ध आंदोलन का आठवा दिन बीत जाने के पश्चात भी विभाग और सरकार की एमपीडब्ल्यू कर्मियों की मांगों पर किसी प्रकार का पहल नहीं किया गया है जो कि विभाग की एमपीडब्ल्यू के प्रति उदासीनता को दर्शाता है, जिस कारण सभी कर्मियों में रोष व्याप्त है । कल दिनांक 7 जून 2021 को राज्य के सभी जिलों में एमपीडब्लू के द्वारा भूख हड़ताल किया गया था जिसमें कुछ जिलों में कुछ एमपीडब्ल्यू के तबीयत खराब होने की भी संघ को सूचना प्राप्त हुई है , इसलिए संघ यह मांग करती है कि अविलंब हम सभी के मांगों पर विभाग और सरकार उचित निर्णय लें ताकि हम सभी एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य कर्मी अपने राज्य के राज्य वासियों के साथ साथ अपने परिवार की सेवा और देख रेख अच्छी तरह से कर सकें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *