नशे मुक्त बच्चों को परिवेश देना : माता पिता अभिभावक की पहली कर्तव्य

बोकारो: आज सेक्टर 4 थानांतर्गत लष्मी मार्किट , स्ट्रीट 8 के झुग्गियां ( स्लम ) मे बाल अधिकार सरंक्षण जागरूकता अभियान मनोवैज्ञानिक सह बाल अधिकार कार्यकर्ता डॉ प्रभाकर कुमार के अगुवाई में युवाओं की सहभागिता से संपन्न हुई ।

डॉ प्रभाकर कुमार ने कहा सुरक्षित राष्ट्र के लिये सुरक्षित बचपन पहली प्राथमिकता है । नशे , विभिन्न पूर्वाग्रहों से , बाल अधिकारों , बाल कानून , बाल मुद्दों के प्रति बच्चों के साथ उनके माता पिता अभिभावकों को संवेदनशील रहने की जरूरत है । जितनी संवेदनशीलता होगी , उतना समाज उन्नतिशील होगी ।

बाल अधिकारों व बाल मुद्दों की अद्यतन जानकारी झुग्गियां तक प्रचार प्रसार की जरूरत है । बच्चों के सहायतार्थ संकट कालीन नो 1098 की अद्यतन जानकारी व सामाजिक उपयोगिता पर बल दी गयी ।

बच्चों , माता पिता , समुदाय में मास्क वितरण की गयी । बच्चों में प्रतियोगिता करवा कर चॉकलेट , कलम पेंसिल आदि स्टेशनरी सामग्रियों का वितरण किया गया । युवाओं में कृष्ण कांत तिवारी , सैमुदिन अंसारी व स्थानीय लोगों की उपस्थिति थी ।

लॉक डाउन व कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों के लिए सरकार के ICPS योजनाओं के अंतर्गत मिलने वाली सुविधाओं – स्पांशिप , सरकारी योजना – मनरेगा , RSETI , कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय , एकल विद्यालय आदि की जानकारी दी गयी । बच्चे नशे उत्पाद से कैसे प्रभावित होते हैं , किन युक्तियों से आदतन निर्माण करते हैं , मनोवैज्ञानिक प्रस्तुतिकरण पेश किए गये । बच्चों के संवर्द्धन के तौर तरीकों पर अभिभावकों संग बात रखी गयी ।