प्रवासी श्रमिकों को दक्षता विकास का दिया जा रहा प्रशिक्षण

गोड्डा: ग्रामीण विकास ट्रस्ट-कृषि विज्ञान केंद्र, गोड्डा के सभागार में “गरीब कल्याण रोजगार अभियान” के अन्तर्गत प्रवासी श्रमिकों के जीविकोपार्जन हेतु दक्षता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत उच्च मानक सब्जी उत्पादन तकनीक विषय पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण का शुभारंभ वरीय वैज्ञानिक-सह- प्रधान डाॅ रविशंकर तथा उद्यान वैज्ञानिक डाॅ हेमन्त कुमार चौरसिया ने संयुक्त रूप से दीप जला कर किया।
सभी प्रवासी श्रमिकों को फेस मास्क देकर सामाजिक दूरी के नियमानुसार सभागार में बैठाया गया। कार्यक्रम में प्रवासी श्रमिकों को सम्बोधित करते हुए वरीय वैज्ञानिक-सह- प्रधान डाॅ रविशंकर ने कहा कि “उच्च मानक सब्जी उत्पादन” की तकनीक सीख कर प्रवासी श्रमिक बन्धु अपने खेत पर “बहुस्तरीय कृषि प्रणाली” तकनीक के आधार पर मचान बना कर एक साथ मुख्य रूप से ओल, हल्दी, लौकी, झिंगली, करेला, नेनुआ, परवल, मूली आदि सब्जियों की खेती करके अधिक उपज प्राप्त कर सकते हैं और नजदीकी बाजार एवं गोड्डा के गुदड़ी बाजार में आसानी से बेच कर लाभ कमा सकते हैं। सब्जियों की उन्नत किस्म जैसे- टमाटर की स्वर्ण लालिमा, बैंगन की पंत ऋतुराज, स्वर्ण प्रतिभा, फूलगोभी की अर्ली कुवांरी, भिंडी की परभनी क्रांति, करेला की अर्का हरित, बंद गोभी की पूसा मुक्ता आदि सब्जी की फसल लगाकर अधिक उपज प्राप्त करें। उद्यान वैज्ञानिक डाॅ हेमन्त कुमार चौरसिया ने सर्वप्रथम मिट्टी की जांच, सब्जियों की नर्सरी का ले आउट तैयार करना, बीज उपचार, सब्जियों की प्रतिरोधी किस्म का चयन, टपक सिंचाई, जैविक खाद तैयार करने की विस्तृत जानकारी दी। गोड्डा जिला की मुख्य नकदी सब्जी आलू, प्याज, फूल गोभी, बंदगोभी, फ्रेंच बीन, गजेन्द्र ओल आदि की वैज्ञानिक विधि से खेती करने का प्रशिक्षण दिया। सभी प्रवासी श्रमिकों के बीच “उच्च मानक सब्जी उत्पादन तकनीक” विषयक पुस्तिका का वितरण किया गया।
मौके पर डाॅ. सतीश कुमार, डाॅ सूर्य भूषण, डाॅ अमितेश कुमार सिंह, डाॅ प्रगतिका मिश्रा, डाॅ एपी. ठाकुर, डाॅ रितेश दुबे, रजनीश प्रसाद राजेश, राकेश रोशन कुमार सिंह, वसीम अकरम मौजूद रहे। मनु मांझी, प्रीतेश कुमार, अंजन हरिजन, रंजीत कुमार यादव, श्यामलाल लोहरा समेत 35 प्रवासी श्रमिक प्रशिक्षण में सम्मिलित हुए।