बड़की पोना में पब्लिक-पुलिस के बीच हुई झडप सरकार के अव्यवहारिक गाइडलाइन का नतीजा : विजय साहू

रामगढ़ से वली उल्लाह की रिपोर्ट
रामगढ़: रामगढ जिला आजसू पार्टी कार्यालय में जिलाध्यक्ष विजय साहू एवं जिला सचिव सह नगर परिषद उपाध्यक्ष मनोज़ कुमार महतो के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस किया गया।
विजयदशमी के दिन रजरप्पा थाना अंतर्गत बडकीपोना के कतारी टोला में रावण दहन कार्यक्रम के दौरान हुए ग्रामीणों और पुलिस के बीच हुए झड़प के विरुद्ध आजसू पार्टी द्वारा जिला कार्यालय रामगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित किया गया। आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में आजसू पार्टी के जिला अध्यक्ष विजय कुमार साहू ने 16 अक्टूबर विजयदशमी के दिन बड़की पोना में रावण दहन कार्यक्रम के दौरान पुलिस और पब्लिक के बीच हुई झडप को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए पूजा को लेकर सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन को अव्यवहारिक और अप्रासंगिक बताया। उन्होंने कहा की आजसू पार्टी ने झडप में घायल ग्रामीण व पुलिसकर्मी के प्रति सहानुभूति व्यक्त करते हुए अविलंब स्वस्थ्य होने की कामना करती है।प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष विजय कुमार साहू ने कहा कि झारखंड सरकार द्वारा पूजा संबंधी जारी गाइडलाइन भ्रामक और अव्यवहारिक है। अव्यवहारिक गाइडलाइन का नतीजा है कि बडकीपोना जैसी निंदनीय वारदात सूबे अन्य जगहों में भी हुई।संयम व कारगर नीति द्वारा घटना को टालना सभंव था। बड़की पोना में घटित घटना पर स्थानीय विधायक की चुप्पी पर जिला अध्यक्ष विजय कुमार साहू ने सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि क्षेत्र में त्यौहार के दिन ग्रामीणों और पुलिस के बीच निंदनीय घटना पर स्थानीय विधायक का मौन रहना संदेहास्पद है,।जनता ने बड़ी उम्मीद से उन्हें सत्ता पर बिठाया और अब विधायक महोदया जनता के सरोकार को भूल ओछी राजनीत और स्वार्थ साध रही है। कहा कि एक ओर जहां सरकार कोरोना गाइडलाइन का हवाला देकर लोगों को भीड़ जुटाने,मेला आयोजन,अन्य कार्यक्रमों के आयोजन पर निषेध लगाती है। वहीं दूसरी ओर सत्ता पक्ष की रामगढ़ विधानसभा विधायक ममता देवी द्वारा दुलमी प्रखंड के सीरु स्थित बुध बाज़ार में बीते 16 अक्टूबर को हजारों की भीड़ जुटाकर ऑर्केस्ट्रा का उद्घघाटन और आयोजन किया जाता है। विडंबना है कि जब जनता का प्रतिनिधि ही सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का माखौल उड़ाने लग जाए,नियम उल्लंघन का आदर्श जनता के बीच प्रस्तुत करने लगे ऐसे में जनता का दिग्भ्रमित होना स्वाभाविक है। स्थिति पक्षपात वाली तब और हो जाती है जब सरकार दुर्भावना से ग्रसित हो दल विशेष के नेता, नेतृत्वकर्ता,और सदस्यों पर सत्ता का रसूल दिखाकर कानूनी कार्रवाई करती है। गौरतलब हो कि आजसू पार्टी के ईचागढ़ विधानसभा प्रभारी हरेलाल महतो द्वारा मेला उद्घघाटन किए जाने पर उन पर कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने का आरोप मढ दिया जाता है और तीन माह कारावास में बिताना पड़ता है। बात यहीं खत्म नहीं होती ईचागढ़ विधानसभा प्रभारी हरेलाल महतो के तीन माह बाद रिहाई होने पर जब वे समर्थकों से मिलते हैं तब इस पर भी सरकार का दोषपूर्ण और एकतरफा रवैया उजागर होता है हरेलाल महतो पर दुबारा मुकदमा दायर किया जाता है है। वहीं दूसरी तरफ रामगढ़ विधानसभा की विधायक कानून और गाइडलाइंस को धत्ता बता हज़ारों की तादाद के बीच आयोजन का उद्घघाटन करती है।और सरकार और कानून मूकदर्शक बनी रहती है।
कोविड प्रोटोकॉल का उल्लघंन यहीं नहीं रूकता बताते चलें की बीते 28सितंबर को कुंदरू कला के महथा बगीचा मैदान में डे-नाइट फुटबॉल टुर्नामेंट के समापन समारोह में सूबे के कैबिनेट मंत्री बन्ना गुप्ता जो आपदा विभाग के भी मंत्री हैं, रामगढ़ विधानसभा विधायक ममता देवी, बड़कागांव विधानसभा विधायक अंबा प्रसाद की उपस्थिति में सैकड़ों ग्रामीण जुटे थे सरकार द्वारा जारी कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ी थी आजसू पार्टी सरकार की इस एकतरफा और ओछी नीति की निंदा करती है। सत्ता पक्ष की विधायक द्वारा कोविड प्रोटोकॉल को जाने के संदर्भ में विधायक के प्रति सरकार से विधि सम्मत कार्रवाई की मांग करती है।
साथ ही मनोज़ कुमार महतो ने नीति आयोग द्वारा जारी आकांक्षी जिला की विकास सूचकांक में रामगढ़ जिला के पिछडी होने पर कहा कि नीति आयोग द्वारा जारी 112 आकांक्षी जिलो की विकास सूचकांक में रामगढ़ जिला का स्थान अंतिम पायदान पर होना दुर्भाग्यपूर्ण है। उल्लेखनीय है कि 2018 से नीति आयोग द्वारा समूचे भारतवर्ष में आकांक्षी जिलो का विकास का पैमाना तय कर विकास सूचकांक जारी किया जाता है तत्तकालीन रामगढ़ विधानसभा विधायक चंद्रप्रकाश चौधरी के कार्यकाल में उनके कुशल नेतृत्व और प्रबंधन में रामगढ़ जिला विकास सूचकांक में अव्वल रहा था। वर्तमान समय में रामगढ़ जिला नीति आयोग के द्वारा जारी रिपोर्ट में विकास के मामले में सबसे अंतिम पायदान पर है। उन्होंने कहा कि रामगढ़ जिला का गठन आजसू पार्टी, आजसू सुप्रीमो सुदेश कुमार महतो,गिरिडीह सांसद सह तत्कालीन रामगढ़ विधायक चंद्रप्रकाश चौधरी और आजसू पार्टी के सिपाहसलारों के आंदोलन और संघर्षों के फलस्वरूप हुआ। जिला गठन के बाद आजसू पार्टी के सही नीति और नीयत के बूते रामगढ़ जिला विकास के मामले में समूचे भारतवर्ष में अव्वल रहा। उन्होंने कहा कि रामगढ़ जिले का गौरव के दिन वापस लाने जिला को शीर्ष पर कायम करने, संवारने को लेकर आजसू पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता चंद्रप्रकाश चौधरी के नेतृत्व में दृढ़संकल्पित हैं।
प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्य रूप से नगर परिषद अध्यक्ष युगेश बेदिया,समाजसेवी धनेश्वर महतो,जिला उपाध्यक्ष दयासागर महतो,वरिष्ठ आजसू नेता किशुन मुंडा,ओबीसी मोर्चा के नप अध्यक्ष नरेश महतो,नगर सचिव नीरज मंडल,प्रदीप बेदिया,संजय बनारसी,उमेश कुमार उपस्थित थे।