पंजाबी हिंदू बिरादरी की त्रिवार्षिक आम चुनाव व 36 वीं वार्षिक आम सभा संपन्न

रामगढ़ से वली उल्लाह की रिपोर्ट
रामगढ़। पंजाबी हिंदू बिरादरी की त्रिवार्षिक आम चुनाव व 36वीं वार्षिक आम सभा रविवार को कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए वैष्णो मंदिर रामगढ़ स्थित बिरादरी हॉल में संपन्न हुई। जिसकी अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष सूरत चंद्र वासुदेवा और संचालन महासचिव वरिष्ठ पत्रकार महेश मारवाह ने किया। सभा को संबोधित करते हुए श्री वासुदेवा ने बिरादरी की भूमिका को और अधिक कारगर बनाने के लिए अधिक से अधिक सामाजिक कार्यक्रम आयोजित किए जाने पर जोर दिया। चालू वित्तीय वर्ष के दौरान किए जाने वाले संभावित कार्यक्रमों की रूप-रेखा से सभा को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि सब कुछ ठीक ठाक रहा तो इस वर्ष अधिक से अधिक सामाजिक कार्यक्रम किए जाने की योजना बनाई गई है। सभा के दूसरे सत्र में पंजाबी हिंदू बिरादरी का आम चुनाव बिरादरी के वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य रमण मेहरा की अध्यक्षता में सर्वसम्मति से किया गया। बिरादरी के महासचिव वरिष्ठ पत्रकार महेश मारवाह ने सचिव प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए वित्तीय वर्ष सत्र 2020-21 में कोरोना गाइडलाइन के अनुसार संपन्न हुए सभी धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रमों की सफलता को सशक्त एकता एवं सदस्यों की सक्रियता का परिणाम बताया। उन्होंने एक वर्ष के दौरान किए गए विकास कार्यों की जानकारी एवं भावी विकास योजनाओं की रूप-रेखा से सदस्यों को अवगत कराया। उन्होंने अपने संबोधन में सभी सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारी टीम पर जिस प्रकार आपने विश्वास व्यक्त करते हुए पिछले 11 वर्षों से हमें बिरादरी की सेवा करने का मौका दिया है। हम उस विश्वास को कायम रखते हुए अगले आम चुनाव तक बिरादरी की सेवा और अधिक तत्परता से करेंगे। बिरादरी का अगला चुनाव 2023 में होना तय है, इस 3 साल में हम बिरादरी को और अधिक ऊंचाइयों पर ले जाने का प्रयास करेंगे। बिरादरी के कोषाध्यक्ष सुशील कुमार खोसला ने पिछले एक वर्ष के दौरान हुए आय-व्यय का ब्यौरा प्रस्तुत किया। सदस्यों को संबोधित करते हुए चुनाव समिति के अध्यक्ष रमण मेहरा ने कहा कि पिछले 36 वर्षों से आप सभी सदस्यों ने एकजुटता दिखाते हुए सर्वसम्मति से बिरादरी का आम चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न किया है। सभा में मुख्य रूप से मनजीत साहनी, विश्वनाथ अरोड़ा, सुभाष चंद्र मारवाह, हेमेन्द्र सौधी, बलवंत राय मारवाह, ओमकार मल्होत्रा, राजीव चड्डा, कैलाश शर्मा, जेके शर्मा, पवन मित्तल, विजय सोबती, एससी कटारिया, हरि ओम भसीन, जितेंद्र कैंथ, संजीव धमीजा, अनिल छाबड़ा, निशांत जैन, विशाल भनोट आदि सदस्य मौजूद थे।