महाअष्टमी को मां दुर्गा को डलिया अर्पित करने की लगी कतार

नितेश रंजन की रिपोर्ट
पथरगामा : शारदीय नवरात्र को लेकर चारों ओर उत्साह का वातावरण है। सनातन धर्मावलंबी आस्था श्रद्धा एवं भक्ति पूर्वक जगत जननी मां दुर्गा की आराधना में लीन हैं। महा अष्टमी तिथि को पूजा पंडालों पर माता को डलिया अर्पित करने के लिए महिलाओं की कतार लगी रही।
प्रखंड स्थित बारकोप के प्राचीन दुर्गा मंदिर, बड़ी दुर्गा मंदिर पथरगामा, रजौन मोड़ दुर्गा मंदिर, लौगांय दुर्गा मंदिर में महा अष्टमी को महिलओं ने मां दुर्गा को डलिया चढ़ाया। उपवास में रहकर महिलाओं ने फल, फूल मिष्ठान से माता रानी को डलिया चढ़ा कर पूजन किया। सुबह 8 बजे से डलिया चढ़ाने का समय निर्धारित किया गया था। डलिया चढ़ाने के लिए मंदिर के बाहर महिलाओं की लंबी कतार लगी थी। आधा से एक घंटा बाद महिलाओं की बारी आती थी। एक साथ 20-25 महिलाओं को डलिया चढ़ाने के लिए सुविधा दी जाती थी। मंदिर का मुख्य गेट बंद रखा गया था। जिससे
महिलाओ ने मंदिर के गेट पर ही मां दुर्गा को डलिया चढ़ाकर पूजा अर्चना की। किसी भी व्रती महिला को मंदिर के अंदर प्रवेश नही दिया गया था। मंदिर के बाहर ही बारी बारी से महिलाओं को डलिया चढ़ाने की व्यवस्था की गई थी। कार्यकर्ता महिलाओं से डलिया लेकर मां के चरणों मे चढ़ाते थे।  इसी व्यवस्था में महिलाओं ने पूजा अर्चना की। मौके पर पूजा समिति के लोग मौजूद थे। वहीं थाना प्रभारी बलिराम राउत के नेतृत्व में मंदिर परिसर में विधि व्यवस्था के लिये पुलिस बल तैनात थी।