राजा मेदिनीराय तोरणद्वार गिरा, मलबे में छह वाहन दबे

पलामू से सुधीर गुप्ता की रिपोर्ट

मेदिनीनगर: पलामू जिले के सतबरवा थाना क्षेत्र के दुबियाखांड में राजा मेदिनीराय तोरणद्वार का छज्जा तेज हवा और वज्रपात की चपेट में आने से गिर गया है। इसमें छह वाहनों की मलबे में दबने की सूचना है। इस दौरान जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है। घटना मंगलवार के अपराहन तीन बजे के करीब की है। सतबरवा थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंच चुकी है। सरजा -पोखराहा पंचायत में यह क्षेत्र पड़ता है।मालूम हो कि तोरणद्वार का निर्माण 1996 में बरवाडीह -बेतला मार्ग पर राजा मेदिनीराय की याद में कराया गया था। उसी साल राजा मेदिनीराय के याद में आदिवासी महाकुंभ मेला का आगाज मेदनीनगर के विधायक पूर्व स्पीकर इंदर सिंह नामधारी और मनिका विधायक रामचंद्र सिंह चेरो के द्वारा शुरू किया गया था। आदिवासी महाकुंभ मेला समाज के लोगों का प्रमुख मेला है।घटना के प्रत्यक्षदर्शी मुखिया आनंद कुमार ने बताया कि एकाएक तेज हवा, बारिश तथा वज्रपात से संभवत तोरणद्वार का छज्जा गिरा है। उसके नीचे कई वाहन खड़े थे। एक पिकअप वैन, तीन टेंपो और दो बाइक मलबा के नीचे दबे हैं ।मुखिया के अनुसार घटना के समय तेज हवा और बारिश से बचने के लिए वाहन और उसमें सवार लोग तथा चालक तोरणद्वार के नीचे खड़े थे। जबकि कुछ अन्य पास में स्थित मंदिर तथा यात्रीशेड खड़े थे। तेज हवा और बारिश से तोरणद्वार को भरभरा कर गिरते देख लोग जान बचाकर भाग निकले।पुलिस ने तोरणद्वार के मलबे में दबे पिकअप वैन संख्या (जेएचओ 3जी 3203 ) टैंपू संख्या ( जेएचओ 3ए 3370) तथा (जेएचओ3एस 0360 ) के साथ दबे एक अन्य टेंपो और दो बाइक को जेसीबी मशीन लगाकर निकालने का प्रयास कर रही है। तीन टैंपू और एक पिकअप वैन सतबरवा क्षेत्र का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *