राज्यपाल के आगमन का तैयारियों को डीसी ने लिया जायजा, दिये आवयक दिशा निर्देश

गुमला से बसंत गुप्ता

31 मार्च 2021 को झारखंड के राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू द्वारा गुमला जिलांतर्गत रायडीह प्रखंड के माझाटोली में आगमन एवं ओल्ड एज होम का उद्घाटन किया जाएगा

इस अवसर पर श्रीधर ज्ञान संस्थान सह प्रशिक्षण केंद्र का अवलोकन एवं सफल प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र का वितरण किया जाएगा

गुमला: राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के 31 मार्च को गुमला जिले के दौरा के मद्देनजर उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा ने आज जिला प्रशासन/ प्रखंड प्रशासन रायडीह के अधिकारियों के साथ प्रखंडांतर्गत माझाटोली में हेलीपैड, ओल्ड एज होम परिसर तथा मरदा ज्ञान संस्थान सह प्रशिक्षण केंद्र का निरीक्षण कर प्रस्तावित कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण कर तैयारियों की समीक्षा की।

31 मार्च को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू द्वारा गुमला जिला के रायडीह प्रखंडांतर्गत माझाटोली में सेवानिवृत सैनिकों के लिए बने ओल्ड एज होम के शीलापट्ट का शिलान्यास किया जाएगा। इसके साथ ही कार्यक्रम स्थल में पूर्व सैनिकों, उनके आश्रितों तथा वीर नारियों के साथ रूबरू होंगे। राज्यपाल द्वारा सेवानिवृत सैनिक एवं उनके आश्रितों तथा वीर नारियों को सम्मानित भी किया जाएगा। इस संबंध में बाणप्रस्थ आश्रम के महासचिव अनिरूद्ध सिंह ने बताया कि पर्यटन विभाग द्वारा बनाए गए पर्यटन भवन को पूर्व सैनिकों के लिए वृद्धाश्रम संचालन हेतु झारखंड सरकार द्वारा हस्तांतरित किया गया है।जिसका उद्घाटन 31 मार्च को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू द्वारा किया जाना है। उद्घाटन के अवसर पर राज्यपाल द्वारा जीवन में सफलता प्राप्त करने वाली चार महिलाओं को सम्मानित किया जाएगा। इसके साथ ही राज्यपाल महोदया कौशल विकास केंद्र का निरीक्षण कर केंद्र की सफल छात्राओं को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित करेंगी।

इस कार्यक्रम के बाद राज्यपाल महोदया श्रीधर ज्ञान संस्थान एवं प्रशिक्षण केंद्र मरदा आएंगी। यहाँ सर्वप्रथम परिसर स्थित महासदाशिव मंदिर में दर्शन-पूजन के पश्चात् प्रशिक्षण केंद्र का अवलोकन कर यहां उपलब्ध प्रशिक्षण संसाधन एवं प्रशिक्षणार्थियों से रूबरू होंगी।

ज्ञातव्य है कि गुमला जिला सेवानिवृत फौजी बहुल जिला है। जिले में बड़ी संख्या में सेवानिवृत फौजियों का निवास है। भूतपूर्व सैनिक कल्याण संगठन द्वारा सेवानिवृत फौजियों के कल्याण तथा उनके आश्रितों के निवास के लिए ओल्ड एज होम का संचालन किया जाएगा। बहुत से सेवानिवृत फौजी सेवानिवृति के बाद पारिवारिक कारणों से अपने घर में नहीं रहना चाहते हैं। ऐसे सैनिकों के रहने के लिए ओल्ड एज होम बनाया गया है। वर्तमान में इस वृद्धाश्रम केंद्र में 20 लोगों के रहने की सुविधा है। इस वृद्धाश्रम में सेवानिवृत सैनिकों के साथ ही उनके असहाय परिजन, शहीद सैनिक की विधवा पत्नी भी आश्रय ले सकती है।

आज उपायुक्त ने कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण कर चेक-नाका स्थित हेलीपैड के रंगरोगन एवं साफ-सफाई का निर्देश दिया। तत्पश्चात् उपायुक्त पर्यटन विभाग द्वारा निर्मित भवन परिसर पहुंचकर यहां संचालित किए जाने वाले ओल्ड एज होम का निरीक्षण कर शिलान्यास के लिए की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने प्रखंड विकास पदाधिकारी रायडीह मिथिलेश कुमार तथा भूतपूर्व सैनिक कल्याण संगठन के प्रतिनिधियों को सभी आवश्यक तैयारियां निर्धारित अवधि के अंदर पूरा करने का निर्देश दिया। कार्यक्रम स्थल में निर्माणाधीन मंच, आगंतुक एवं अतिथियों के बैठने की उत्तम व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ओल्ड एज होम के निरीक्षण के पश्चात् मरदा स्थित श्रीधर ज्ञान संस्थान एवं महासदाशिव मंदिर परिसर का निरीक्षण किया। श्रीधर ज्ञान सह प्रशिक्षण केंद्र के निदेशक विज्ञान सिंह ने बताया कि परिसर में सर्वप्रथम राज्यपाल महोदया द्वारा महासदाशिव मंदिर में दर्शन एवं पूजन कार्यक्रम होगा। तत्पश्चात् राज्यपाल महोदया प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षणार्थियों के साथ रूबरू होंगी। यहाँ सफल प्रशिक्षणार्थियों के बीच प्रमाण पत्र एवं प्रतीक चिन्ह का वितरण राज्यपाल महोदया द्वारा किया जाएगा। राज्यपाल प्रशिक्षण संस्थान में उपलब्ध संसाधन एवं प्रशिक्षण के पद्धति का निरीक्षण करेंगी। इस परिसर में संपन्न होने वाले कार्यक्रम के लिए मंच निर्माण का कार्य नियत समय पर पूरा करने का निर्देश उपायुक्त द्वारा दिया गया। साथ ही पर्यटक भवन तथा श्रीधर ज्ञान संस्थान में राज्यपाल के लिए “सेफ होम” की व्यवस्था का निर्देश दिया।

राज्यपाल के कार्यक्रम को देखते हुए हेलीपैड से लेकर मरदा मंदिर परिसर तक सुरक्षा व्यवस्था का दायित्व पुलिस प्रशासन एवं सी.आर.पी.एफ को दिया गया है। हेलीपैड सहित कार्यक्रम स्थल, ओल्ड एज होम (पर्यटन भवन), श्रीधर ज्ञान संस्थान, मरदा महासदाशिव मंदिर परिसर में वरीय दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। इसके साथ ही हेलीपैड से मरदा मंदिर तक रास्ते में सभी प्रमुख स्थानों पर स्टैटिक दंडाधिकारी/ पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। बड़ी संख्या में सुरक्षा के लिए पुलिस जवानों को प्रतिनियुक्त किया गया है।

उपायुक्त के साथ निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक, सी.आर.पी.एफ कमांडेंट, अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, भूतपूर्व सैनिक कल्याण संगठन सह बाणप्रस्थ आश्रम के महासचिव अनिरूद्ध सिंह, श्रीधर ज्ञान संस्थान के निदेशक विज्ञान सिंह, रायडीह प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश कुमार सिंह व अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *