रंका में लगा “सरकार आपके द्वार ” शिविर, ऑन द स्पॉट मिला दिव्यांग को राशन कार्ड

हेमंत सरकार, हमार सरकार: लाभुक

गढ़वा से नित्यानंद दूबे की रिपोर्ट

गढ़वा : “हमरा पेंशन देवे खातिर , हम हेमन्त सरकार के बहुत बहुत धन्यवाद दे थी । हेमन्त सरकार, हमार सरकार बड़न”, उक्त बातें मुख्यमंत्री आदिम जनजाति पेंशन योजना के तहत पेंशन स्वीकृति पत्र प्राप्त करने वाली लाभुक प्रेमशीला देवी ने कही।
रविवार को स्थानीय विधायक सह प्रदेश के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर रंका प्रखंड कार्यालय में आयोजित किए गए सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए।

कार्यक्रम में उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान सरकार का मुख्य उद्देश्य जनता तक सभी जन कल्याणकारी योजनाओं को पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि रंका प्रखंड के हर योग्य लाभुक को उनका अधिकार यथा उत्तम स्वास्थ्य सुविधा, राशन, आवास, पेंशन, पेयजल, विद्युत सहित अन्य सुविधाएँ मुहैया कराना हमारा मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि सभी जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने हेतु अब आम जनता को सरकारी कार्यालयों का चक्कर नहीं लगाना होगा। बल्कि अब अधिकारी स्वयं आपके प्रखंड और पंचायतों में शिविर लगाकर संबंधित समस्याओं का निष्पादन करेंगे। मौके पर उन्होंने वहां मौजूद रंका अनुमंडल पदाधिकारी व प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कि वह यह सुनिश्चित करें कि पंचायत भवन के कर्मी आम जनता की समस्याओं को ठीक प्रकार से सुनकर उनका निवारण करें।

कार्यक्रम के दौरान माननीय मंत्री ने रंका प्रखंड के 25 लाभुकों के बीच प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास निर्माण हेतु स्वीकृति पत्र दिया। इसके अलावा रंक प्रखंड के 17 लाभुकों के बीच मुख्यमंत्री आदिम जनजाति पेंशन योजना के तहत पेंशन स्वीकृति पत्र माननीय मंत्री द्वारा दिया गया। कार्यक्रम में विभिन्न पंचायतों से पहुंचे जनता की समस्याओं का ऑन द स्पॉट निष्पादन किया जा रहा था। इसी क्रम में दूधवल पंचयात से आए दिव्यांग सुकरुदिन अंसारी को माननीय मंत्री ने ऑन द स्पॉट राशन कार्ड देने का निर्देश दिया साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के दौरान संबंधित क्षेत्र के पदाधिकारी उपस्थित हो ताकि जनता की समस्याओं का ऑन द स्पॉट त्वरित समाधान किया जा सके। मौके पर उन्होंने सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में बिजली विभाग के पदाधिकारी अथवा कर्मी के उपस्थित न रहने की स्थिति में नाराजगी जताते हुए उन्हें कारण बताओ नोटिस देने की बात कही। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि देश अभी भी कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से लड़ रहा है। हम सभी को कोरोना से बच कर रहने के लिए राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए गाइड लाइन का अक्षरशः पालन करना होगा। उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के कारण आज सरकार आपके द्वार का आयोजन छोटे स्तर पर किया गया है। वैश्विक महामारी के बाद सरकार आपके द्वार का वृहद कार्यक्रम किया जाएगा, जिसमे जनता अपनी समस्याएं अधिकारियों के समक्ष रखेगी। उन्होंने कहा कि इस दौर में भी वर्तमान सरकार के मंत्री लोगों तक पहुंच उनकी समस्याओं का निवारण करने में जुटे हुए हैं।

उन्होंने बताया कि बहुत सारी जन कल्याणकारी योजनाएं धरातल पर लाई जा रही है जिससे आम जनता को काफी लाभ मिलेगा। हमारी सरकार का उद्देश्य है कि कोई गरीब भूखा ना रहे किसी को अनाज के लिए दर-दर भटकना ना पड़े। इसके लिए सरकार ने मुख्यमंत्री दीदी किचन, मुख्यमंत्री दाल- भात योजना सहित अन्य योजनाओं के माध्यम से खाद्यान्न उपलब्ध करा रही है। विदित हो कि रंका प्रखंड में राशन कार्ड बनाने हेतु निर्धारित लक्ष्य 4,440 के विरुद्ध 2000 एप्लीकेशन प्राप्त किया जा चुका है तथा 297 राशन कार्ड का वितरित किया गया है, शेष लक्ष्य को जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। वही प्रखंड में चल रही पानी की समस्या पर उन्होंने कहा कि इस समस्या का समाधान भी कर दिया गया है। सभी टोले व घरों में पाइप लाइन बिछा कर शुद्ध पेयजल जल्द ही उपलब्ध कराया जाएगा। इस कड़ी में केवल रंका प्रखंड ही नहीं बल्कि समस्त गढ़वा जिले के घरों में पाइप लाइन के माध्यम से शुद्ध पेयजल पहुंचाने हेतु हम अग्रसर हैं। इसके अलावा रंका में मौजूद प्रखंड अस्पताल को भी दुरुस्त कराया जाएगा। वहीं वर्षों से लंबित पड़े मदरसों के अनुदान पर भी सरकार द्वारा कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि सभी वर्ग यथा नौजवान, बुजुर्ग, छात्र महिलाएं सभी की आवश्यकताओं पर वर्तमान सरकार की नजर है, उनकी सभी आवश्यकताओं को पूर्ण किया जाएगा। पहले बालू तथा गिट्टी झारखंड राज्य से दूसरे राज्यों में भेजा जाता था परंतु वर्तमान काल में इस पर सरकार द्वारा प्रतिबंध लगा दिया गया है तथा उस बालू व गिट्टी को राज्य की जनता के बीच कम दाम में उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा 15वें वित्त का कार्य भी आरंभ किया जा चुका है। उक्त कार्य हेतु पंचायती राज विभाग, पंचायत सचिव व मुखिया को निर्देशित किया गया है। माननीय मंत्री ने कहा कि वे अपने विधानसभा क्षेत्र को लेकर गंभीर हैं तथा यहां की जनता को मुख्यधारा से जोड़ने का कार्य निरंतर कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर इच्छाशक्ति मजबूत हो तो कोई भी मंजिल प्राप्त कर सकते हैं। कार्यक्रम के दौरान रंका प्रखंड का नाम विभिन्न क्षेत्रों में ऊंचा करने वाले व्यक्तियों को माननीय मंत्री ने शॉल देकर सम्मानित किया। इसी क्रम में आदिम जनजाति से आने वाले बिगन मांझी (जिनकी बेटी ने उच्च शिक्षा प्राप्त कर झारखंड प्रशासनिक सेवा की परीक्षा पास की) को माननीय मंत्री द्वारा उनके उत्कृष्ट कृत्य हेतु सम्मानित किया गया। वहीं शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य कर रहे शिक्षक धीरज कुमार सिंह एवं सन 1988 से रंका में विद्यालय खोलकर शिक्षा का अलख जगाने वाले रामचंद्र प्रजापति को शॉल देकर उन्होंने सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मौजूद रंका अनुमंडल पदाधिकारी राजेश कुमार लिंडा ने कहा कि सरकार आपके द्वार आई है, आप सब बेबाकी से अपनी समस्याओं को रखें निष्पादन तुरंत होगा। उक्त कार्यक्रम के समापन के उपरांत माननीय मंत्री सोनदाग पंचायत भ्रमण हेतु निकले।

उक्त कार्यक्रम में माननीय मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर के अलावा रंका अनुमंडल पदाधिकारी राजेश कुमार लिंडा, प्रखंड विकास पदाधिकारी संतोष कुमार प्रजापति, अंचल निरीक्षक राजकुमार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी रंका बिंदु कुमारी, सुपरवाइजर सरस्वती कुमारी, पूनम कुमारी तथा सरस्वती देवी, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी असलम, थाना प्रभारी पंकज तिवारी, झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष तनवीर आलम, मदनी खान, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष अंजली गुप्ता, चंदा देवी, स्वास्थ्य प्रतिनिधि कंचन साहू, उपाध्यक्ष आशुतोष पांडे, प्रवक्ता धीरज दुबे, अतहर अंसारी, नीरज तिवारी, रंका प्रखंड के विभिन्न क्षेत्रों से आए लाभुक व फरियादी समेत अन्य उपस्थित थे।