नाबालिक आदिवासी लड़की के साथ दुष्कर्म, दो महीने बाद मामला पहुँचा थाने

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: तेनुघाट ओपी क्षेत्र में एक आदिवासी नाबालिग से दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। मामले में नाबालिग बच्ची की मां ने तेनुघाट ओपी प्रभारी को लिखित आवेदन देकर मामला दर्ज कराया है।
ओपी प्रभारी को दिए लिखित आवेदन में ओपी क्षेत्र के चांपी निवासी राम विलास मांझी (35) के उपर बेटी को बहला फुसलाकर नहाने का झांसा देकर तालाब किनारे ले जाकर दुष्कर्म करने का मामला दर्ज कराया है। पीडिता की मां ने पुलिस को बताया है कि आज से लगभग दो माह पूर्व 23 अप्रैल को आरोपी एक शादी कार्यक्रम से उक्त बच्ची को बहला फुसलाकर नहाने का झांसा दिया और तालाब किनारे ले जाकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। बेटी ने लौटकर अपनी मां को सारी आपबीती बताई। लेकिन परिवार ने लोक लाज, प्रतिष्ठा व सामाजिक भय के कारण लगभग दो माह तक पुलिस को हुई घटना की कोई सूचना नहीं दी।
इस दौरान पीड़ित परिवार को विभिन्न प्रलोभनों का लालच देकर मामले को रफा दफा करने का प्रयास भी चलता रहा। पिछले दो दिन से चापी गांव में मामले को लेकर बैठकों का दौर चल रहा था। इसी बीच पुलिस को सूचना डी गई। थाना प्रभारी ने तत्काल पीड़िता के घर पहुंचकर मामले की पड़ताल की तो घटनाक्रम को सही पाया लेकिन पीड़ित परिवार ने सामाजिक प्रतिष्ठा के कारण मामला दर्ज कराने से इंकार कर दिया। थाना प्रभारी केके चौधरी द्वारा आरोपित पर कड़ी कार्रवाई की बात के बाद पीड़िता की मां ने मंगलवार को ओपी में जाकर मामला दर्ज कराया है। नाबालिग को मेडिकल के लिए बोकारो भेज दिया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपित पूर्व से शादीशुदा है जिसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है घटना के दिन से ही फरार है। गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।