नहीं निकला रथ यात्रा, पुरानी बस्ती में कोविड गाइडलाइन के तहत मंदिर में हुआ पूजा अर्चना

रामगोपाल जेना
चक्रधरपुर: 12 जुलाई सोमवार को चक्रधरपुर के पुरानीबस्ती में प्रभु जगन्नाथ की रथयात्रा नहीं निकली गई। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार के निर्णय का मंदिर समिति ने भी स्वागत करते हुए रथयात्रा नहीं निकालने का निर्णय लिया। रथ यात्रा के अवसर पर प्रभु जगन्नाथ मंदिर आकर्षक फूलों से सजाया गया है। प्रभु जगन्नाथ, बलराम, सुभद्रा की दर्शन करने के लिए अहले सुबह श्रद्धालु मंदिर पहुंचे। मंदिर के मुख्य पुजारी मुरारी मोहन मिश्रा के द्वारा विधि विधान के साथ पूजा अर्चना एवं हवन किया गया। तत्पश्चात श्रद्धालुओं द्वारा प्रसाद चढ़ाई गई। पूजा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। मालूम हो कि रथ यात्रा के अवसर पर प्रभु जगन्नाथ अपने बड़े भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ रथ में सवार होकर मौसी बाड़ी जाते। यह परंपरा सदियों से पालन होता आ रहा था। लेकिन कोरोना महामारी के कारण पिछले दो सालों से चक्रधरपुर पुरानीबस्ती में रथ यात्रा नहीं हो रहा है। जिससे लोगों में मायूसी छाई हुई है।