पलामू के जाने-माने शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अखिलेश सिन्हा का कोरोना से निधन

पलामू से सुधीर कुमार गुप्ता की रिपोर्ट

मेदिनीनगर: पलामू जिले के मेदिनीनगर के प्रसिद्ध शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ अखिलेश कुमार सिन्हा का गुरुवार को कोरोना से निधन हो गया है. वे चार दिनों से कोरोना वायरस के संक्रमण से ग्रसित थे. उनका रांची के प्राइवेट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था. इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई है. डॉक्टर अखिलेश कुमार सिन्हा मेदिनीनगर के पुलिस लाइन रोड में सर्किट हाउस के सामने अपना क्लिनिक चलाते थे. पलामू के अच्छे चिकित्सक के रूप में इनकी एक अलग पहचान थ और वे गरीब परिवार के बच्चों का फ्री में भी इलाज करते थे. वे एक व्यवहार कुशल इंसान थे. इनकी मृत्यु से पलामू जिले में शोक की लहर है।झारखंड में बीते 24 घंटे में भले ही कोरोना से मौत के आंकड़े कम हुए हैं और रिकवरी रेट भी बढ़ी, लेकिन अभी भी संक्रमितों में वैसी कमी नहीं आई है. पिछले 24 घंटे में विभिन्न जिलों से मिले आंकड़ें हैं- बोकारो में 142, चतरा में 267, देवघर में 137, धनबाद में 160, दुमका में 57, पूर्वी सिंहभूम में 489, गढ़वा में 128, गिरिडीह में 105, गोड्डा में 85, गुमला में 110, हजारीबाग में 434, जामताड़ा में 110, खूंटी में 135, कोडरमा में 143, लातेहार में 137, लोहरदगा में 62, पाकुड़ में 06, पलामू में 302, रामगढ़ में 271, रांची में 658, साहेबगंज में 34, सरायकेला में 58, सिमडेगा में 116, पश्चिमी सिंहभूम में 216 मरीज मिले हैं।बोकारो में 08, देवघर में 03, धनबाद में 09, दुमका में 01, पूर्वी सिंहभूम में 18, गढ़वा में 04, गिरिडीह में 06, हजारीबाग में 03, जामताड़ा में 02, खूंटी में 02, कोडरमा में 02, लातेहार में 03, लोहरदगा में 02, पालामू में 03, रामगढ़ में 05, रांची में 19, सरायकेला में 03, सिमडेगा में 01, पश्चिमी सिंहभूम में 03 कोरोना संक्रमित की मौत हुई है।