श्यामा प्रसाद रूर्बन मिशन अंतर्गत गुमला जिला के करौंदी एवं तेलगाँव पंचायत में कार्यान्वित योजनाओं को लेकर समीक्षा बैठक संपन्न

गुमला: उपायुक्त  शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में श्यामा प्रसाद रूर्बन मिशन अंतर्गत गुमला जिला के करौंदी एवं तेलगाँव पंचायत में कार्यान्वित योजनाओं के अद्यतन स्थिति की समीक्षा हैतु बैठक आईटीडीए भवन स्थित उपायुक्त के कार्यालय कक्ष में की गई।

जिला परिषद के कार्यों की समीक्षा के क्रम में पाया गया कि जिला परिषद द्वारा 03 योजनाओं का क्रियान्वयन किया गया था। जिसमें करौंदी पंचायत स्थित मौसी बाड़ी से जगन्नाथ मंदिर तक 0.5 किलोमीटर ब्लैक टॉप रोड का निर्माण, सिलम स्थित मल्टीपर्पस कम्यूनिटी हॉल का निर्माण एवं करौदी व तेलगाँव पंचायतों में 10 दुकानों के साथ यात्री पड़ाव का निर्माण कार्य शामिल है। इन तीनों योजनाओं में से ब्लैक टॉप रोड का निर्माण तथा 10 दुकानों सहित यात्री पड़ाव का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। मल्टीपर्पस कम्यूनिटी हॉल में टाईल्स आदि का कार्य अपने अंतिम चरणों में है। इसपर उपायुक्त ने जिला अभियंता को शेष कार्य अक्तूबर माह के अंत तक पूर्ण करने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ने एनआरईपी के कार्यों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान पाया गया कि 12 योजनाओं में से 02 योजनाओं के रद्द कर दिया गया हैइसके अलावा शेष योजनाओ में कार्य प्रगति पर है। कार्यपालक अभियंता एनआरईपी द्वारा आरओ ट्रीटमेंट प्लांट से संबधित योजना को रद्द करने की आवश्यकता बताई। इसपर उपायुक्त ने उक्त योजना को रद्द नई योजना का प्रस्ताव समर्पित करने का निर्देश दिया। वहीं करौंदी पंचायत के जोराग जाने वाले रास्ते में मौजूदा वेयरहाउस के विकसन के संबंध में बताया गया कि सभी कार्य पूर्ण कर लिए गए किंतु वेयरहाउस का हस्तांरण बाकी है। इसपर उपायुक्त ने जेएसएलपीएस के प्रतिनिधि को भ्रमण कर वेयरहाउस हस्तांतरित करने का निर्देश दिया।

बैठक में भारतीय लोक कल्याण संस्थान द्वारा एक भी कार्य पूर्ण नहीं किए जाने पर उपायुक्त ने नाराजगी व्यक्त करते हुए एक सप्ताह के अंदर सभी लंबित योजनाओं के कार्यों को पूर्ण करने का निर्देश दिया। वहीं निर्धारित समयसीमा के अंदर कार्य पूर्ण नहीं करने पर संस्थान से स्पष्टिकरण पूछते हुए ब्लैकलिस्ट करने का भी निर्दश दिया।

तेलगाँव एवं करौंदी पंचायत अंतर्गत मॉडल विद्यालयों की स्थापना के तहत जिले के 04 विद्यालयों के वर्ग आठ में स्मार्ट क्लासेज के संचालन हेतु टेबल, चेयर तता प्रेजेक्टर की आपूर्ति वरीता वेंचर्स प्राईवेट लिमिटेड द्वारा किया जाना है। जिसमें से एजेन्सी द्वारा चेबल एवं चेयर की आपूर्ति कर दी गई है, किंतु प्रोजेक्टर अधिष्ठापित नहीं किया गया है। इसपर उपायुक्त ने 20 अक्तूबर तक प्रोजेक्टर की अधिष्ठापना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। वहीं एजेन्सी द्वारा भुगतान लंबित होने की भी जानकारी दी गई। इसपर उपायुक्त ने अभिषरण विशेषज्ञ को अपने स्तर से एजेन्सी द्वारा उपलब्ध कराए गए सामग्रियों की जाँच करते हुए एजेंसी के लंबित विपत्र का भुगतान कराने का निर्देश दिया।

उपस्थिति
बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा सहित सहायक योजना पदाधिकारी विभूति नारायण सिंह, जिला पशुपालन पदाधिकारी डॉ.मोहम्मद कलाम, जिला अभियंता जिला परिषद, कार्यपालक अभियंता एनआरईपी अमरेंद्र, आरसेटी गुमला के प्रतिनिधि, रूर्बन मिशन के अभिषरण विशेषज्ञ गीता देवी, वरीता वेंचर्स प्राईवेट लिमिटेड के प्रतिनिधि, सर्व जागृति केंद्र की सावित्री देवी, महाशक्ति महिला विकास समिति की अनिता देवी, भारतीय लोक कल्याण संस्थान के प्रतिनिधि, विकास भारती बिशुनपुर के प्रतिनिधि व अन्य उपस्थित थे।