उपायुक्त की अध्यक्षता में आपूर्ति से संबंधित योजनाओं की समीक्षा बैठक संपन्न

गुमला : उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में आपूर्ति से संबंधित योजनाओं की समीक्षा हेतु जिला आपूर्ति कार्यबल की समीक्षा बैठक आईटीडीए भवन के सभागार में की गई।

उपायुक्त ने पी.वी.टी.जी योजनांतर्गत खाद्यान्न वितरण कि समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने बिशुनपुर प्रखंडांतर्गत पी.वी.टी.जी योजना के तहत आदिम जनजातिय परिवारों के बीच खाद्यान्न वितरण होने के पश्चात् समय पर ऑनलाइन प्रविष्टियां नहीं होने की जानकारी दी। साथ ही समीक्षा के दौरान पाया गया कि बिशुनपुर प्रखंड में मात्र 0.06 प्रतिशत ही खाद्यान्न वितरण किया गया है। उपायुक्त ने बिशुनपुर में कुल आदिम जनजातिय परिवारों की जानकारी प्राप्त की। बताया गया कि बिशुनपुर प्रखंड में कुल 1627 परिवार हैं। इसपर उपायुक्त ने बिशुनपुर पणन पदाधिकारी को अगले दो दिनों के अंदर सभी 1627 आदिम जनजातिय परिवारों के बीच खाद्यान्न का वितरण कर ससमय ऑनलाइन प्रविष्टि सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ने दोहरे यूआईडी की समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में पाया गया कि गुमला जिलांतर्गत दोहरे यूआडी की कुल संख्या 5998 है। इसपर उपायुक्त ने 20 जुलाई तक सभी पणन पदाधिकारियों को दोहरे यूआईडी के मामलों को सुधार करते हुए दोहरे प्रविष्टियों को हटवाने का निर्देश दिया। वहीं आधार सीडिंग केसमीक्षा के क्रम में जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने बताया कि आधार सीडिंग के कार्य में गुमला जिले में 10.86 प्रतिशत राशनकार्डधारियों का आधार सीडिंग नहीं किया गया है। इसपर उपायुक्त 20 जुलाई तक आधार सीडिंग 10.86 प्रतिशत से 5 प्रतिशत तक लाने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ने सोना सोबरन दोती साड़ी योजना की समीक्षा के दौरान जिला आपूर्ति पदाधिकारी को धोती एवं साड़ियों को सुरक्षित स्थान में संग्रहित करने तथा बेहतर रख-रखाव की व्.वस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इस संबंध में उन्होंने एक सुरक्षित स्थल का चयन कर संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारियों को उक्त स्थल में ही सामग्रियों को संग्रहित करने पर विशेष बल दिया।

उपायुक्त ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत गुमला जिलांतर्गत थाद्यान्न वितरण की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में बताया गया कि पात्र व्‍यक्‍ति चावल/ गेहूं/मोटे अनाज क्रमश: 3/ 2/1 रूपए प्रति किलोग्राम के राजसहायता प्राप्‍त मूल्‍यों पर 5 किलोग्राम खाद्यान्‍न प्रति व्‍यक्‍ति प्रति माह प्राप्‍त करने का हकदार है। मौजूदा अंत्‍योदय अन्‍न योजना परिवार,जिनमें निर्धनतम व्‍यक्‍ति शामिल हैं, 35 किलोग्राम खाद्यान्‍न प्रति परिवार प्रति माह प्राप्‍त करते रहेंगे। समीक्षा के दौरान बिशुनपुर एवं चैनपुर प्रखंड में खाद्यान्न वितरण शून्य पाया गया। इसपर उपायुक्त ने नाराजगी व्यक्त करते हुए चैनपुर बीडीओ से वितरण सून्य होने की जानकारी प्राप्त की। बीडीओ द्वारा बताया गया कि प्रखंड में ई-पॉश मशीन के खराब हो जाने के कारण खाद्यान्न वितरण का कार्य बाधित है। इसपर उपायुक्त ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को कल तक नए ई-पॉश मशीन की आपूर्ति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया तथा बीडीओ चैनपुर को 20 जुलाई तक शत-प्रतिशत खाद्यान्न वितरण तथा अन्य सभी अपूर्ण कार्यों को अविलंब पूर्ण करने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ने झारखंड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना अंतर्गत ग्रीन राशन कार्ड की स्थिति की समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में पाया गया कि गुमला जिलांतर्गत झारखंड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना के तहत निर्धारित लक्ष्य 46617 सदस्यों के विरूद्ध 43712 परिवारों को ग्रीन राशन कार्ड से आच्छादित किया गया है। विदित हो कि उक्त योजनांतर्गत जिले की उपलब्धी 89.84 प्रतिशत है।

उपायुक्त ने चीनी वितरण की समीक्षा करते हुए अंत्योदय कार्डधारियों के बीच अप्रैल, मई एवं जून माह तक चीनी का वितरण उचित तरीके से किया जा रहा है अथवा नहीं इसकी जाँच करने का निर्देश दिया। साथ ही किरासन तेल वितरण की समीक्षा के क्रम में जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने वितरकों द्वारा गरीब एवं जरूरतमंद परिवारों को किरासन तेल के निर्धारित मूल्य 41 रूपये से अधिक मूल्य वसूलने की शिकायत प्रपात होने की जानकारी दी। इसपर उपायुक्त ने सभी पणन पदाधिकारियों को इसकी जाँच कर निर्धारित मूल्य पर ही किरासन तेल का वितरण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। साथ ही जाँच के क्रम में अधिक मूल्य पर किरासन तेल बेचते हुए पाए जाने पर संबंधित वितरकों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया।

इसके अलावा बैठक में उपायुक्त ने जिले के सभी पीडीएस डीलरों के दुकानों में अधिष्ठापित सूचना पट्ट में एकरूपता लाने का निर्देश दिया। इस संबंध में उन्होंने सूचना पट्ट पर जिला आपूर्ति पदाधिकारी एवं पणन पदाधिकारी के संपर्क संख्या तथा सूचना पट्ट पर संबंधित पीडीएस डीलर के पोषक क्षेत्र के लाभुकों की जानकारी आदि अंकित करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को सूचना पट्ट के लिए एक निर्धारित मानक आकार तथा रंग निर्धारित करने का भी निर्देश दिया।

उपस्थिति
बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, जिला आपूर्ति पदाधिकारी गुलाम समदानी, प्रखंड विकास पदाधिकारी चैनपुर सह प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी डॉ.शिशिर कुमार, पालकोट विभूति मंडल, उप निर्वाचन पदाधिकारी महेंद्र रविदास, प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी गुमला/ रायडीह, पणन पदाधिकारी कामडारा, सहायक गोदाम प्रबंधक व अन्य उपस्थित थे।