उपायुक्त की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग से संबंधित कार्यों की गई समीक्षा

गुमला : उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग से संबधित कार्यों की समीक्षा हेतु बैठक आईटीडीए भवन स्थित उपायुक्त के कार्यालय कक्ष में किया गया।

बैठक में उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यों को 15वीं वित्त आयोग मद अंतर्गत करने का निर्देश दिया। उन्होंने सदर अस्पताल, अनुमंडल स्तरीय अस्पताल, प्रखंड स्तरीय अस्पताल एवं सभी रेफरल अस्पतालों के सुदृढ़ीकरण की दिशा में कार्य करने पर विशेष जोर दिया। उपायुक्त ने डायलिसिस केंद्र की समीक्षा के क्रम में केंद्र के समुचित संचालन को अति-आवश्यक बताया।

बैठक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रखंड स्तर पर जन स्वास्थ्य इकाई की अधिष्ठापना की जानकारी दी गई। इसपर उपायुक्त ने जिलांतर्गत वैसे क्षेत्र जहाँ जन स्वास्थ्य इकाई नहीं है वहाँ इन इकाईयों को अधिष्ठापित करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने भवनहीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की समीक्षा के दौरान वैसे प्रखंड जहाँ पीएचसी व सीएचसी के भवन नहीं हैं वहाँ भवनों का निर्माण कराने का निर्देश दिया।

हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर के संबंध में डीपीएम स्वास्थ्य द्वारा बताया गया कि वर्तमान में जिलांतर्गत 78 एचडब्लूसी चिन्हित हैं। इसके अतिरिक्त और 64 हेल्थ एवं वेलनेस सेंटरों का अधिष्ठापन किया जाना है। इसपर उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग को स्थल चयन करने हेतु प्रतिवेदन समर्पित करने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग में 167 रिक्त पदों पर नियुक्ति किए जाने के संबंध में जानकारी प्राप्त की। इसपर डीपीएम द्वारा बताया गया कि इस संबंध में मुख्यालय द्वारा एजेंसी का चयन कर लिया गया है। उपायुक्त ने एजेंसी से संपर्क कर चयन की प्रक्रिया तथा सरकार द्वारा नियुक्ति हेतु निर्धारित दिशा-निर्देशों की बारीकियों की जानकारी प्राप्त करने का निर्देश दिया।

बैठक में अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता ने कोविड-19 के संभावित तीसरे लहर के नियंत्रण, रोकथाम एवं बचाव के निमित जिलांतर्गत संचालित पीडियैट्रिक वार्डों में भर्ती होने वाले शिशुओं एवं बच्चों का डाटाबेस संधारित करने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने गैर सरकारी, सरकारी अस्पतालों, पीएचसी, एवं सीएचसी में विभिन्न लक्षणों के ईलाज के लिए आने वाले बच्चों तथा उनके समुचित ईलाज का प्रतिदिन अनुश्रवण करते हुए डाटाबेस संधारित कर प्रतिवेदित करने का निर्देश दिया।

बैठक में नीति आयोग के आशीष द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर एनेमिया मुक्त भारत अभियान के तहत शिविर का आयोजन कर बच्चों का हीमोग्लोबिन जाँच कराने की जानकारी दी गई। उन्होंने आगे बताया कि अभियान के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए एएनएम एवं आशा कार्यकर्ताओं को प्रचार-प्रसार सामग्री उपलब्ध कराया जाना है। इसपर उपायुक्त ने उक्त अभियान के तहत शिविर आयोजन आदि से संबंधित माइक्रो प्लान तैयार कर समर्पित करने का निर्देश दिया।

उपस्थिति
बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, सिविल सर्जन डॉ.राजू कच्छप, अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, डीपीएम स्वास्थ्य जया रेशमा खाखा, डीस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर यूनिसेफ अपूर्वा सेन, एचटीएफ जिदान प्रियंका ग्रेवाल, नीति आयोग के आशीष व अन्य उपस्थित थे।