रिमांड से फरार नक्सली मामला: गिरी गाज, 5 पुलिसकर्मी निलंबित, सूचना देने वालों को मिलेगा 1 लाख इनाम

बालूमाथ : प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के सबजोनल कमांडर कृष्णा यादव उर्फ सुल्तान क़े बालूमाथ थाना से फरार होने के बाद पलामू प्रमंडल के डीआईजी राजकुमार लकड़ा, लातेहार एसपी प्रशांत आनंद और अभियान एसपी विपुल पांडे ने बुधवार को बालूमाथ थाना का दौरा किया । अधिकारीयों ने थाना परिसर में जिस जगह से उग्रवादी फरार हुआ था एवं जिस हाजत में रखा गया था उस सारे मामले की जानकारी विस्तारपूर्वक ली । डीआईजी राजकुमार लाकड़ा ने पत्रकारों को बताया कि बालूमाथ थाना परिसर के हाजत में शौचालय होने के बावजूद उसे बाहर के शौचालय में ले जाना बड़ी चूक है । कहा कि फरार उग्रवादी का पोस्टर जारी किया जाएगा एवं सूचना देने वाले को एक लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा व नाम गुप्त रखा जाएगा ।वही लातेहार एसपी प्रशांत आनंद ने बताया कि सब जोनल कमांडर फरार होने की जांच के बाद इसमें बालूमाथ पुलिस की चूक को देखते हुए कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में बालूमाथ थाना प्रभारी राणा भानु प्रताप सिंह केस का अनुसंधानकर्ता दीप नारायण सिंह, ओ०डी ऑफिसर ठाकुर प्रसाद सिंह,एएसआई रामदेव मंडल एवं चौकीदार सुरेश गंझु को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है । चरदिवारी क़े ऊपर लगे कंटीले तार कटे होने के जवाब में कहा कि जल्द ही तार को दुरुस्त किया जाएगा ।बता दे कि बीते मंगलवार को बालूमाथ थाना हाजत से शौच के बहाने निकलकर चौकीदार को चकमा देकर पीएलएफआई उग्रवादी कृष्णा यादव फरार हो गया था ।
थाना प्रभारी नपेंगे यह तकरीबन तय मना जा रहा था। रांची पुलिस द्वारा गिरफ्तार उग्रवादी रिमांड में बालूमाथ थाना में लाए जाने क़े बाद यहां से फरार हो जाय यह लातेहार पुलिस क़ो शर्मसार करने वाली घटना थी । जिसका खामियाजा जिम्मेवार लोगों क़ो भुगतना ही था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *