रिश्ता हुआ शर्मशार: अपहृत बच्चे का हत्यारा फूफा ही निकला, घर में बच्चे को मारकर जमीन में गाड़ दिया था फूफा

फूआ का सास समेत तीन गये जेल कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बच्चे को सुपूर्दे खाक 

जामताड़ा से राजकिशोर सिंह की रिपोर्ट

जामताड़ा: जामताड़ा विगत बृहस्पतिवार को जीजा एवं साला में मामूली बात के बतंगड़ में एक चार वर्षीय बच्चे को फूफा शेख इब्राहिम ने बोरे में बंदकर अपने ही घर ले जाकर बेरहमी से मार दिया। वहीं बच्चे को मारने के बाद घर के ओहरी में गडढ़ा खनकर गाड़ दिया। उपर से अपने मॉ के साथ मिलकर जलावन से ढक दिया। उक्त घटना जामताड़ा थाना क्षेत्र के नामूपाड़ा की है। इसे लेकर जामताड़ा थाना में जामताड़ा थाना काण्ड संख्यॉ 111/2020 भा.द.वि.की धा. 363/34 के तहत मामला दर्ज हुआ है। इसे लेकर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी युवकों को पुलिस गिरप्त में लेकर आवश्यक पूछताछ प्रारंभ कर दिया था। वहीं आरोपी फूफा एवं एक अन्य युवक शेख सुभान द्वारा पुलिस के समक्ष बारबार व्यान बदलकर पुलिस अनुसंधान को प्रभावित कर रहा था। इसे लेकर पुलिस को ध्यान भटकाने के लिए जेल गये युवकों ने पहले मिहिजतमा मस्जिद रोड एवं ढेकी पाड़ा तथा बिहार के जमूई जिला स्थित गिद्धौर मियॉ टोली में बच्चे को होने की बात कहा। पुलिस आरोपी युवकों को लेकर उसके निशानदेही पर खाक छानता रहा। बाद में रविवार को आरोपी लगभग डेढ़ बजे रात्रिपहर पुलिस के समक्ष कबूल कर लिया कि बच्चे को मारकर घर में गड़ दिया है। लगभग दो बजे रात को ही पुलिस ने आज लाश बरामद कर पोस्टमार्टम करवाकर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच में मैयत नसीब करा दिया। चूॅकि आरोपी एवं पीड़ित का घर अगल बगल ही है। इस कारण पुलिस को अंदेशा था कि बच्चे के लाश को देखने के बाद ग्रामीण आरोपी के घर एवं परिवार पर हमला कर सकते हैं। ज्ञात हो कि आरोपी शेख इब्राहीम एवं मृत बच्चे के पिता षेख एंथोनी आपस में साला एवं बहनोई हैं। आरोपी अपने पत्नी को घटना के एक सप्ताह पूर्व पंखे में लटकार मारना चाह रहा था। जिसे उसके भाई शेख एंथोनी ने देखा एवं अपने बहनोई शेख इब्राहिम से इस बात को लेकर विवाद एवं गॉव में पंचेति भी हुआ। वहीं इस घटना से खार खाये आरोपी फूफा ने अपने साला को देख लेने की धमकी दिया था।

क्या कहते हैं एसपी

एसपी अंशुमन कुमार ने कहा कि घटना के चंद घंटे के बाद ही पुलिस ने आरोपी को अपने गिरप्त में ले लिया था। लेकिन पुलिस के समक्ष लगातार झूठ बोलकर पुलिस के अनुसंधान को भटकाने का प्रयास किया गया। वहीं एसडीपीपओ ए.के. उपाध्याय एवं जामताड़ा पुलिस इंस्पेक्टर मनोज कुमार सिंह एवं अन्य सभी पुलिस पदाधिकारी एवं कांस्टेबल उसके झूठ को भी बारिकी से पड़ताल के बाद सच को खोज निकाला।

विधायक ने पीड़ित के परिजन को आर्थिक मदद किया पुलिस के अच्छे कार्यों का प्रशंसा किया

विधायक डा0 इरफान अंसारी पीड़ित के परिजनों से मिला एवं इस निर्ममता पूर्ण घटना की भर्त्सना किया। वहीं पुलिस के कार्यशैली पर संतुष्टि व्यक्त करते हुए पुलिस इंस्पेक्टर एवं पुरे पुलिस टीम को हत्या मर्डर मिस्ट्री उदभेदन पर धन्यवाद कहा।