चढ़ाई पीड़ के 22 गांव के रैयत अपनी जमीन-देशावली बचाने को तैयार

मुरुम गांव में जन जागरण अभियान में शामिल हुए विधायक दीपक बिरुवा
रामगोपाल जेना
चाईबासा। ईचा खरकाई कुजू नदी के कैचमेंट एरिया में अतिक्रमण कर घेराबंदी के विरोध में चढ़ाई पीड़ के 22 गांव के रैयत अपनी गांव-जमीन-देशावली बचाने के शक्ति प्रर्दशन को तैयार हो गये हैं।
इसके लिए रैयतों ने शनिवार को चढ़ाई पीड़ इलाका के मुरुम गांव में आयोजित जनजागरण अभियान चलाया गया। इस अभियान में ग्रामीणों के आमंत्रण पर चाईबासा के माननीय विधायक दीपक बिरुवा और झामुमो केंद्रीय सदस्य सुभाष बनर्जी भी शामिल हुए।
अभियान में मानकी सिद्धेश्वर डुबराज तियू, मुखिया मंगल सिंह तियू, राहुल सामड, मन्नाराम कुदादा, विजेंद्र कुदादा, डोगा सामड, राजू सिद्धू, तुराम कुदादा समेत ग्रामीण रैयतों ने अपने संबोधन में साफ तौर पर एलान कर दिया कि नदी में अतिक्रमण कर घेराबंदी नहीं करने दिया जाएगा। जरुरत पड़ेगा तो रुंगटा स्पंज आयरन प्लांट का घेराव भी किया जाएगा। इस बात का प्रस्ताव रैयतों तथा मानकी मुखिया आदि ने विधायक जी के समक्ष रखा, जिस पर उन्होंने सभी रैयतों को एकजुट रहने का संदेश दिया, अपनी गांव, जमीन, देशावली बचाने के लिए मिलकर लड़ाई लड़ने की बात कही।