सुमिता होता फाऊण्डेशन द्वारा लिवर बीमारी से ग्रसित महिला के इलाज के लिए भेजा गया सदर अस्पताल 

रामगोपाल जेना
चक्रधरपुर: चक्रधरपुर सेनाईकुटी गाँव के 37 वर्षीय महिला दशमी कुई लिवर बीमारी से ग्रसित है तथा लगभग तीन महीने से अन्न ग्रहण नही कर रही , केवल दुध एवं तरल पदार्थ खाकर जीवन को बचाये रखी है । कई जगह मे दिखाया पर कोई लाभ नही पहुंचा अन्त मे घर मे रखकर झाडफूंक करने लगा । तीन महीनों तक अन्न ग्रहण नही करने से महिला दशमी कुई का हालत अत्यंत नाजुक हो गया । कल इस बात की जानकारी झामुमो नेता वन विहारी लोहार ने सुमिता होता फाऊण्डेशन के अध्यक्ष सदानन्द होता को दिया तथा नीजि वाहन से आज सुबह दशमी कुई को लेकर उसके पति गार्दी मेलगांडी उसने के भाई बेटी और बनविहारी लोहार अनुमडंल अस्पताल चक्रधरपुर पहुँचे । अस्पताल मे सदानन्द होता एवं सुरज महान्ति मौजूद थें उन्होंने दशमी कुई डाक्टर प्रियंका को दिखाया । डाक्टर मरीज की हालत को देखते हुए ऑक्सीजन लगाने तथा सिलाईन चढाने को कहा । दशमी कुई की हालत सुधार नही होने के कारण चाईबासा रेफर कर दिया । सदानन्द होता ने बीना देर किये 108 एम्बुलेंस से चाईबासा सदर अस्पताल भेजा गया । कल चाईबासा मे दशमी कुई का सिटी स्केन होगा तब बीमारी का पता चलेगा तथा आगे का इलाज होगा।