डीएमएफटी फंड से सदर अस्पताल का होगा उन्नयन

– पुलिस विभाग के लिए खरीदे जाएंगे आवश्यक उपकरण
– डीएमएफटी न्यास परिषद की बैठक में दी गई महत्वपूर्ण योजनाओं के निर्माण की स्वीकृति

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट की न्यास परिषद की बैठक शुक्रवार को समाहरणालय के सभा कक्ष में आहूत की गई। बैठक में विधायक पोड़ैयाहाट प्रदीप यादव, विधायक महागामा दीपिका पांडे सिंह, विधायक बोरियो लोबिन हेंब्रम, बरहेट के विधायक सह राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा, सांसद राजमहल के प्रतिनिधि, उपायुक्त भोर सिंह यादव, पुलिस अधीक्षक वाईएस रमेश, उप विकास आयुक्त अंजलि यादव, सिविल सर्जन डॉ शिव प्रसाद मिश्रा मौजूद थे।
बैठक में लेमनग्रास आवासन इकाई के निर्माण हेतु प्राक्कलन पर चर्चा की गई। इसके अलावे 7 प्रखंड संसाधन केंद्र की मरम्मत, कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय, पोड़ैयाहाट एवं महागामा के चहारदीवारी निर्माण कार्य पर भी चर्चा हुई।
डीएमएफटी फंड से पुलिस विभाग के लिए विभिन्न स्थलों पर सीसीटीवी कैमरा के अधिष्ठापन एवं रख-रखाव, ट्रैफिक कंट्रोलिंग इक्विपमेंट्स एवं दो ड्रोन कैमरा का क्रय करने का निर्णय लिया गया। जिला के दोनों अनुमंडलों में एक एक नियंत्रण कक्ष के अधिष्ठापन पर भी चर्चा हुई।
गोड्डा काॅलेज और महिला काॅलेज के 5 छात्रावासों की मरम्मत कराने का निर्णय लिया गया।
जिला अन्तर्गत खेल को बढ़ावा देने हेतु विभिन्न खेलों यथा: ताइक्वांडो , तीरन्दाजी, फुटबाॅल इत्यादि के लिए खेल सामग्रियों की क्रय पर भी चर्चा हुई।
जिला के पहाड़िया जनजाति के लोगों के लिए शुद्ध पेयजल आपूर्ति हेतु फिल्ट्रेशन प्लांट एवं पाइप लाइन निर्माण पर भी मंथन किया गया।
इसके अलावा सदर अस्पताल, गोड्डा के वर्तमान भवन के द्वितीय तल का निर्माण एवं दो अदद लिफ्ट अधिष्ठापन तथा जिला अन्तर्गत अवस्थित सभी सरकारी अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केन्द्रों को सड़क से जोड़ने हेतु आवश्यकतानुसार पीसीसी पथ निर्माण पर चर्चा की गई।
बैठक में उपायुक्त द्वारा बताया गया कि जिला प्रशासन के द्वारा किसी भी कीमत पर योजना के कार्यान्वयन में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। कहा, जिला प्रशासन की यह प्राथमिकता रहती है कि जनकल्याण के लिए सुदृढ़ योजनाएं धरातल पर क्रियान्वित किया जा सके। उपायुक्त ने भवन निर्माण पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा गया कि विभिन्न विभागों के अंतर्गत भवन निर्माण के द्वारा जो कार्य कराए जा रहे हैं, उसे गुणवत्तापूर्ण ढंग से किए जाएं।
बैठक में पुलिस अधीक्षक ने जिले में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर समिति के समक्ष आवश्यक बिंदुओं को रखा । सभी जनप्रतिनिधियों के द्वारा भी कार्यों में प्रगति लाने हेतु अपने अपने सुझाव प्रस्तुत किए गए।
बैठक में पथ निर्माण विभाग के अधिकारियों को सदस्यों के द्वारा निर्देश दिया गया कि सड़कों के निर्माण में गुणवत्तापूर्ण सामानों का प्रयोग करते हुए यथाशीघ्र कार्यों को पूर्ण किए जाएं। पथ निर्माण विभाग के अंतर्गत सुंदरपहाड़ी से लेकर धर्मपुर पथ का जो निर्माण कराया गया है उनकी जांच हेतु एक टीम का गठन करने की मांग सदस्यों द्वारा की गई।