सेलकर्मियों को मिलेगा दिवाली बम्पर वेतन पुनरीक्षण पर बनी सहमति

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: सेल कर्मियों को दीपावली का तोहफा, तीन नवम्बर को एरियर की पहली किस्त का होगा भुगतान स्टील अथारिटी आफ इंडिया लिमिटेड सेल में वेतन पुनरीक्षण पर एमओयू होने के बाद अधिकारी व कर्मचारियों को एरियर का भुगतान तीन नवंबर तक उनके बैंक खाता में करने की योजना सेल प्रबंधन की है। यह राशि पहले चरण में उन्हें एकमुश्त अप्रैल 2020 से अब तक कर दी जाएगी। जबकि शेष रकम जो पहली जनवरी 2017 से लंबित है, उसका भुगतान उन्हें किस्तों में कंपनी के आय-व्यय के आधार पर अदा किया जाएगा। इस बाबत सेल मुख्यालय ने सभी इकाई के कार्मिक व वित्त विभाग को अभी से ही तैयार रहने का निर्देश दे दिया है। मामले पर 29 अक्टूबर को नई दिल्ली में सेल बोर्ड की मीटिग रखी गई है। वहां पे रिवीजन का एजेंडा पास होते ही फाइल को इस्पात मंत्रालय भेज दी जाएगी। इसके बाद सेलकर्मियों को दीपावली के मौके पर एरियर का सौगात मिल सकेगा। हालांकि एरियर के भुगतान का अंतिम फैसला इस्पात मंत्रालय के स्वीकृति के बाद ही हो सकेगा।
इस दौरान शुक्रवार को पे रिवीजन पर हुए समझौते में 13 फीसद एमजीबी व 26.5 फीसद प‌र्क्स की राशि के साथ बढ़े हुए वेतनमान का लाभ सेलकर्मियों को दिसंबर माह के वेतन के साथ देने का निर्णय प्रबंधन की ओर से ले लिया गया है।

बता दें की सेल में अधिकारी व कर्मचारी दोनों का पे रिवीजन पहली जनवरी 2017 से लंबित है। कर्मचारियों के पे रिवीजन पर शुक्रवार को एनजेसीएस व प्रबंधन के बीच एमओयू होने के बाद अधिकारियों के रिवीजन पर भी सेल प्रबंधन ने स्वीकृति प्रदान कर दी है। अफसरों को रिवीजन के मद में 15 फीसद एमजीबी के साथ 32 अथवा 35 फीसद प‌र्क्स का लाभ दिया जा रहा है। पहले चरण में होगा 11 सौ करोड़ का भुगतान :
सेल में अधिकारी व कर्मचारियों को पे रिवीजन के मद में पहली अप्रैल 2020 से अब तक एरियर का भुगतान करने से कंपनी प्रबंधन पर लगभग 11 100 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। जबकि पहली जनवरी 2017 से बकाया एरियर की राशि लगभग पांच हजार करोड़ के आसपास की है। ऐसे में प्रबंधन क्रमवार तरीके से राशि के भुगतान का फैसला ली है। इससे संयंत्र के उत्पादन-उत्पादक्ता के साथ संयंत्रकर्मियों की जेब पर भी कोई आर्थिक बोझ नही बढ़ेगा। एक अप्रैल 2020 से कर्मचारियों के एरियर पर लगभग 700 करोड़ तथा अधिकारियों पर 400 सौ करोड़ रुपये का खर्च सेल प्रबंधन को करना होगा।