संथाल हूल ही था आजादी की पहली लड़ाई: अमरेंद्र यादव

राजद ने मनाया 167 वां हूल दिवस

दुमका। 167 वां हूल दिवस के मौके पर राष्ट्रीय जनता दल के जिलाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार यादव के नेतृत्व में बुधवार को राजद कार्यकर्ताओं ने पोखरा चौक स्थित सिदो कान्हू के प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनके बलिदान को याद किया।
राजद जिलाध्यक्ष अमरेंद्र यादव ने कहा कि संथाल हूल ही आजादी की पहली लड़ाई था। आजादी की लड़ाई में अंग्रेजों के छक्‍के छुड़ाने वाले आदिवासियों के संघर्ष गाथा और उनके बलिदान को याद करने का यह खास दिन है। सिद्धो-कान्हू, चाँद भैरव, फूलो झानो आदि शहीदों को याद करते हुए अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ विद्रोह के प्रतीक के तौर पर हूल दिवस मनाया जाता है। उनके बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। कार्यक्रम में राजद नेता लक्ष्मण पासवान, युवा नेता प्रमोद पंडित, रामसुंदर पंडित, अफरोज आलम, जुलकर अंसारी,सुशील राय, जयदेव गोराई, कंचन यादव, शेष कुमार,अरुण कुमार, बीरेंद्र यादव सहित दर्जनों लोग शामिल थे।