सरकारी तालाब से पटवन की सुविधा नहीं मिलने पर भड़के ग्रामीण

– ग्राम समिति को पोखर की बंदोबस्ती करने का प्रशासनिक आदेश हुआ बेअसर
नितेश रंजन की रिपोर्ट

पथरगामा: प्रखंड के पडुवा पंचायत अंतर्गत बेलटीकरी स्थित तालाब का मामला गहराता जा रहा है। सरकारी तालाब से सिंचाई की सुविधा नहीं मिलने के कारण ग्रामीणों में असंतोष गहराता जा रहा है। तालाब संबंधी विवाद को सुलझाने की करीब 15 दिन पूर्व गांव में प्रशासनिक स्तर पर हुई बैठक में लिए गए निर्णय का भी अनुपालन नहीं किया जा रहा है। असंतुष्ट ग्रामीणों ने उपायुक्त को स्मार पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई है।
इस विवादित तालाब का रकबा 5 बीघा 18 कट्ठा दो धुर है । पूर्व में उक्त तालाब का राजस्व अंचल कार्यालय पथरगामा के द्वारा बेलटीकरी ग्राम के दोनों समुदाय के लोगों मिलकर दिया करते थे। दोनों समुदाय के लोग उक्त तालाब में मछली उत्पादन करते थे । साथ ही बेलटीकरी ग्राम के किसान अपने खेतों में उसी तालाब से मोटर के माध्यम से पटवन भी किया करते थे ।
लेकिन कुछ वर्ष पूर्व से मत्स्य पालन विभाग द्वारा उक्त तालाब की बंदोबस्ती मछुआरा समिति को की गई है। समिति द्वारा गांव के एक दबंग को तालाब दे दिया गया है।
इसी मामले को लेकर बेलटीकरी के ग्रामीण मोहम्मद अखलाक, मोहम्मद जहांगीर अंसारी, मोहम्मद मुस्ताक , मोहम्मद असलम , मो सलीम, संजय यादव , उपेंद्र ठाकुर, विजय कुमार सिंह , गुंजन कुमार, आलोक सिंह, राजेन्द्र कुमार सिंह सहित 150 ग्रामीणो ने हस्ताक्षरित आवेदन देते हुए कहा है कि बिगत कुछ वर्ष से मत्स्य विभाग गोड्डा के द्वारा डाक के माध्यम से मछुवारा को दिया जाने लगा ।डाक लेने के बाद मछवारा बेलटीकरी ग्राम के ही मोहम्मद युनूस को दे दिया जाता है ।मोहम्मद यूनुस के द्वारा गांव के किसानों को अपने खेतों मे पटवन करने नही दिया जाता है। इस संबंध मे ग्रामीण मोहम्मद बसीम अकरम ने कहा कि पोखर के बगल मे मेरा खेत पडता है। खेत मे लगे धान पानी के चलते खराब हो रहा था ।मैने पोखर से पटवन करना चाहा। इस पर मोहम्मद युनूस आकर भद्दी भद्दी गाली गलौज करने लगा ।मोहम्मद यूनुस के इस रवैये से सारे ग्रामीणो के बीच आक्रोश है ।
इस पोखर के मामले को लेकर बेलटीकरी के ग्रामीण पिछले वर्ष सितंबर में अंचलाधिकारी पथरगामा को सूचित किया गया था कि मोहम्मद युनूस के द्वारा तालाब से सिंचाई करने नही दिया जाता है । ग्रामीणों द्वारा दिए गए आवेदन पर अंचलाधिकारी पथरगामा ने संज्ञान लेते हुए स्वयं जांच कर सिंचाई का आदेश निर्गत किया । उनके आदेश का भी उल्लंघन मोहम्मद युनूस द्वारा किया जा रहा है ।
उपायुक्त गोड्डा को दिए गए आवेदन मे ग्रामीणो ने लिखा है कि पोखर के मामले को लेकर बेलटीकरी ग्राम मे 24 जुलाई को अनुमंडल पदाधिकारी गोड्डा,अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी गोड्डा,जिला मत्स्य पदाधिकारी गोड्डा और अंचलाधिकारी पथरगामा के साथ पोखर को लेकर बेलटीकरी ग्रामग्रामवासी के साथ साथ बैठक हुई ।सभी ग्रामीणो की बात सुनने के बाद अनुमंडल पदाधिकारी गोड्डा द्वारा प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी पथरगामा और जिला मत्स्य पदाधिकारी को निर्देश दिया गया था कि बारकोप मत्स्यजीवी सहयोगी समिति द्वारा चुने गए मत्स्य सदस्य का नामांकन रद्द कर नये सदस्य के नाम से तलाब को लिखा जाय ।ताकि समस्त ग्रामवासी उक्त तालाब का सही इस्तेमाल कर सके ।उसके बावजूद अब तक इस दिशा मे कोई पहल नही की गई है ।