सरना धर्म कोड लागू करने को लेकर आदिवासी संगठनो ने किया रेल चक्क़ा जाम

रामगोपाल जेना
चक्रधरपुर: तयशुदा कार्यक्रम के तहत रविवार 6 दिसंबर को आदिवासी सेंगल अभियान केंद्रीय सरना समिति एवं अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद के तत्वावधान में सरना धर्म कोड को सरकारी मान्यता देने के लिए रेल,रोड चक्क़ा जाम अभियान चलाया गया.इस अभियान के तहत रविवार को चक्रधरपुर रेल प्रमंडल अंतर्गत डेरोंवाँ स्टेशन(हाल्ट)परिसर रेल पटरी पर आदिवासी संगठन के कार्यकर्ताओ ने 2021 के जनगणन में सरना धर्म कोड को सरकारी मान्यता देने के लिए धरना पर्द्रशन करते हुए रेल परिचलान सेवा ठप्प कर दिया.जिससे क़रीब एक घंटे तक रेल परिचालन सेवा बाधित रहा.इस दौरान रेल रोको धरना प्रदर्शन कार्यक्रम सुबह क़रीब 10 बजे से क़रीब 11 बजे एक घंटे तक चला.विधी ब्यवस्था हेतू मौक्के पर मौजूद गोयलकेरा बीडीओ,मनोहरपुर स्टेशन प्रबंधक शैलेंद्र कुमार एवं गोयलकेरा थाना प्रभारी मौजूद थे.वहीं धरना प्रदर्शन के दौरान उपस्तिथ आदीदमसी संगठनो ने पीएम के नाम एक ज्ञापन भी बीडीओ को सौंपा.इस दौरान आदिवासी संगठनो के सदस्य पोथीराम हँसदा,प्रेमशिला मुर्मू,कविराजमुर्मू,राजनाथ हेम्ब्रोम,अनिल मार्डी,सुरेश माँझी,महाराज बेसरा,अनिल सोरेन,समेत सैंकड़ों की संख्या में समर्थक उपस्तिथ थे.