खेती बचाओ, लोकतंत्र बचाओ, राष्ट्रव्यापी आंदोलन 26 जून को: महेंद्र पाठक

रामगढ़: अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति झारखंड के संयोजक सह अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव महेंद्र पाठक ने प्रेस बयान जारी कर कहा कि केंद्र की मोदी सरकार लगातार आम जनता पर कहर बरपा रही है, अपने हिटलर शाही के बल पर देश की जनता को । इसीलिए 7 महीने से चल रहे किसान आंदोलन को कई हथकंडे को अपनाते हुए आंदोलनों को बदनाम करने , कुचलने कि कई साजिश रची गई ,ठंड की महीने ,बारिश की महीने एवं चिलचिलाती धूप में भी लाखों किसान दिल्ली की बॉर्डर पर बैठे हुए हैं। जिसका 26 जून को 7 महीने पूरे हो जाएंगे, देश हिटलर शाही मोदी सरकार 600 किसानों के शहीद होने पर भी कान में जूं नहीं रेंग रहा है। इसीलिए पूरे देश में 600 किसान संगठनों, बीएमएस को छोड़कर तमाम प्रगतिशील श्रमिक संगठनों सहित कई बुद्धिजीवी पत्रकार, कलाकार आंदोलन को समर्थन किया है। किसान नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती के पुण्यतिथि के अवसर पर पूरे देश में आंदोलन गांव, घर ,खेत, खलिहान, चौक चौराहों से लेकर देश के सभी राज भवनों के समक्ष प्रदर्शन के माध्यम से राष्ट्रपति महोदय को मांग पत्र समर्पित की जाएगी। जिसमें मुख्य मांगे किसान विरोधी तीनों काला कानून को निरस्त करो, मजदूर विरोधी चारकोट को रद्द करो ,बिजली बिल 2020 वापस लो , आयकर से बाहर के लोगों को ₹10000 प्रतिमा गुजारा भत्ता दो ,केरल के तर्ज पर सभी जरूरतमंद लोगों को बगैर राशन कार्ड के भी सभी आवश्यक वस्तुओं को घर घर मुहैया कराओ, किसानों के धान की बताएं राशि की भुगतान आदि कई मांगों के समर्थन में कल पूरे देश में किसान संगठनों की ओर से अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की बैनर तले प्रदर्शन किया जाएगा।