मेहरमा में जविप्र की एक दुकान को किया गया सील

– एसडीओ के आदेश पर सीओ ने की कार्रवाई
विजय कुमार की रिपोर्ट

मेहरमा : प्रखंड अंतर्गत बहिरा गांव में संचालित प्रभु नारायण दास के जन वितरण प्रणाली की दुकान को महागामा एसडीओ जितेंद्र कुमार देव के निर्देश पर मेहरमा सीओ सुनील कुमार के द्वारा शनिवार देर रात सील कर दिया गया। बताया जाता है कि एसडीओ को गुप्त सूचना मिली थी कि घोरीकिता शांति नगर का डीलर प्रभु नारायण दास सरकारी खाद्यान्न को अपनी दुकान में रखने के बजाय कालाबाजारी करने के उद्देश्य से बहिरा गांव के पास एक घर में सरकारी खाद्यान्न रखा है।
एसडीओ श्री देव ने इस सूचना के आधार पर मेहरमा सीओ को मामले की जांच कर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया। सीओ ने जांच के दौरान मामला सही पाकर डीलर के दुकान को कागजी कार्यवाही करते हुए सील कर दिया। इस कार्रवाई से अन्य डीलरों में हड़कंप मचा हुआ है।
हालांकि क्षेत्र में चर्चा का विषय है कि प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी की लापरवाही के कारण इस तरह की कार्रवाई हुई है। बताया जा रहा है कि बीते माह अधिक बारिश होने के कारण रास्ते में एक ऊंचा पुल होने के कारण डीलर के सरकारी दुकान तक डोर स्टेप वाहन पहुंचने में परेशानी हो रही थी। उसी को ध्यान में रखते हुए उक्त बातों की जानकारी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को डीलर ने लिखित आवेदन दिया था। जिसके बाद उक्त स्थान को चिन्हित कर नया गोदाम तत्काल बनाया गया था। लेकिन प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने उक्त बातों की जानकारी जिले के वरीय अधिकारी को नहीं दिया गया था जिसके कारण इस तरह की कार्रवाई की गई है। इधर प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी पर अब यह सवाल उठता है कि प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को इतने बड़े मामले का खुद निर्णय लेने का अधिकार किसने दिया था या फिर अलग मंशा से उक्त स्थान पर सरकारी खाद्यान्न को स्टॉक किया गया था? अब यह देखना दिलचस्प होगा कि दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई होती है या फिर लीपापोती कर दिया जाता है।
इस संबंध में मेहरमा सीओ सुनील कुमार एवं प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी से मोबाइल पर कई बार संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन दोनों अधिकारियों ने फोन कॉल रिसीव नहीं किया ।