सेप्टिक टैंक में विषैली गैस के कारण दम घुटने से मृत व्यक्तियों के आश्रितों को दी गई 4 लाख की अनुदान राशि

गढ़वा से नित्यानंद दूबे की रिपोर्ट

गढ़वा: सोमवार को मंत्री, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग  मिथिलेश कुमार ठाकुर के द्वारा जिले के गढ़वा एवं कांडी अंचल अंतर्गत क्रमशः दिनांक 21-07-2020 तथा 14-10-2020 को सेप्टिक टैंक में विषैली गैस के कारण दम घुटने से मृत 7 व्यक्तियों के आश्रितों को 3 लाख 80 हजार रुपए का चेक अनुदान राशि के रूप में प्रदान किया गया।

मौके पर गढ़वा अंचल अंतर्गत कल्याणपुर निवासी स्वर्गीय गुलाम रब्बानी अंसारी की पत्नी रूबिया खातून, स्वर्गीय इमामुद्दीन अंसारी की पत्नी हलीमा बीबी, स्वर्गीय अमरेंद्र कुमार विश्वकर्मा की पत्नी सुधा देवी तथा कांडी अंचल अंतर्गत डूमरसोता निवासी स्वर्गीय अनिल मेहता की पत्नी सविता देवी, स्वर्गीय मिथिलेश मेहता की पत्नी व स्वर्गीय नागेंद्र मेहता माता विजयंती देवी व स्वर्गीय प्रवीण मेहता के पिता सत्येंद्र मेहता को माननीय मंत्री के द्वारा 3 लाख 80 हजार रूपए का चेक अनुदान राशि के रूप में दिया गया। इसके अलावा मृतक के परिजनों को माननीय मंत्री के द्वारा कंबल भी उपलब्ध कराया गया।

उक्त अवसर पर अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए आज राज्य के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री श्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने कहा कि अपने जीविकोपार्जन के लिए कार्य करते वक्त ऐसी घटना होना अत्यंत दुखद है। प्रावधान के तौर पर इस प्रकार की घटनाओं में परिजनों को पारिवारिक लाभ के रूप में 20 हजार रुपए की राशि प्रदान की जाती है। परंतु उपायुक्त व मेरा प्रयास इन परिवारों के सहयोग के लिए कुछ बेहतर करना था ऐसे में मैंने माननीय मुख्यमंत्री से उक्त संदर्भ में अनुरोध किया। जिसको लेकर हाई लेवल कमिटी के द्वारा विचार विमर्श के उपरांत इसे कैबिनेट के द्वारा पास किया गया। परिणाम स्वरूप आज इन परिवारों को 4 लाख रुपए अनुदान राशि के तौर पर दिया गया है। उन्होंने कहा कि वैसे तो परिवार के सदस्य की कमी कोई पूरी नहीं कर सकता लेकिन यह राशि उनके लिए आगे के जीवन में कुछ बेहतर करने का एक साधन मात्र है। उन्होंने मृतकों के परिजनों को किसी के बहकावे में ना आकर इस राशि को आजीविका के स्रोत के रूप में उपयोग करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की घटनाओं में परिजनों को सहायता राशि उपलब्ध कराने की शुरुआत गढ़वा जिले से हुई है उम्मीदन पूरे राज्य को इसका लाभ मिलेगा। इसके अलावा माननीय मंत्री ने कहा कि ऐसी दुर्घटना आगे से ना हो इसका भी ख्याल रखा जाना चाहिए। उन्होंने जिले वासियों से अपील की कि कोई कार्य करने से पहले उसके परिणाम व दुष्परिणाम के विषय में विचार करें, जीवन अनमोल है । उन्होंने जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन से भी उक्त संदर्भ में जागरूकता कार्यक्रम चलाने का अनुरोध किया।

मौके पर उपायुक्त गढ़वा श्री राजेश कुमार पाठक ने कहा कि मृतकों के परिजनों को सहायता राशि उपलब्ध करा पाना माननीय मंत्री के अथक प्रयास से ही संभव हो पाया है। इसके अलावा उन्होंने आए परिजनों से किसी भी प्रकार की मदद के लिए बेझिझक जिला प्रशासन से अपनी समस्या कहने की बात कही।

मौके पर मंत्री, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, श्री मिथिलेश कुमार ठाकुर, उपायुक्त गढ़वा श्री राजेश कुमार पाठक, उप विकास आयुक्त गढ़वा श्री सत्येंद्र नारायण उपाध्याय, निदेशक डीआरडीए श्री ओनिल क्लिमेंट ओड़िया, प्रभारी पदाधिकारी गोपनीय शाखा चंद्रजीत सिंह, उप निर्वाचन पदाधिकारी गढ़वा, अंचलाधिकारी गढ़वा, पदाधिकारी सामान्य शाखा गढ़वा, जिला कल्याण पदाधिकारी जिले के विभिन्न विभागों से आए पदाधिकारी व कर्मी तथा मृतकों के परिजन समेत अन्य उपस्थित थे।