गरजामो में शहीदे आजम कॉन्फ्रेंस जलसा आयोजित

शहीदे आजम कांफ्रेंस में दूर-दूर से पहुंचे लोग

बरही से बिपिन बिहारी पाण्डेय

बरही : बरही प्रखंड के गरजामो में सोमवार बीती रात्रि में शहिदे आजम कॉन्फ्रेंस सह जलसा का आयोजन किया गया। जिसमें मुफ्ती मुजाहिद साहब के सरपरस्ती व मौलाना सुलेमान साहब के सदारत में जलसा संपन्न हुआ। इसमें शामिल हुए दूरदराज से कई ओलेमा व शोहरा ने इंसानियत और भाईचारे का पैगाम दिया। इस जलसे में मुफ्ती मुजाहिद ने अपने तकरीर में इमामे हुसैन की जीवनी को लोगों के बीच विस्तृत रूप से रखा। वहीं दुनियां मै फेले बुराईयों को रोकने को हिदायत दिए। मौलाना सुलेमान साहब ने अपने तकरीर मे तालीम (शिक्षा) पर जोर देते हुए कहा कि आज शिक्षा समाज के लिए बहुत जरूरी है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बरही पूर्वी भाग के जिला परिषद सदस्य प्रतिनिधि मो. कैयूम ने अपने विचार में हजरत इमाम हुसैन की शहादत को याद करते हुए कहा कि उन्होंने दुनियां में अमन – शांति, इंसानियत के खातिर अपना सर काटना कबूल किए, किंतु यजीद के सामने झुकना कबूल नहीं किए। अब हम सभी का दायित्व है कि इमामे हुसैन ने जिस दिन के लिए कुर्बानी दिए उस दिन को हरा भरा कैसे रखा जाय। उक्त कार्यक्रम में जिप सदस्य प्रतिनिधि मो. कैयूम, मुफ्ती मुजाहिद साहब, सदारत मौलाना सुलेमान, संचालन कर्ता हाफिज तोशिफ राजा, मौलाना तस्लीम उद्दीन, मौलाना ताहिर, हाफिज शहीद राजा, मौलाना फरीद, मुबारक हुसैन, रमजान अंसारी, मो. सलामत, साबिर मियां, महताब आलम, सोबरती अंसारी, मो. लियाकत, अकूब अंसारी, जाबिर अंसारी आदि शामिल हुए।