शहीद दिवस पर याद किये जंगे आजादी के महानायक भगत सिंह, सुखदेव एवं राजगुरु

गोड्डा: राष्ट्रीय विभूति मंच के बैनर तले शहीद दिवस पर मंगलवार को स्थानीय भगत सिंह स्मारक पर बड़ी संख्या में कृतज्ञ राष्ट्रभक्तों ने जंगे-आज़ादी के तीनों महानायकों भगत सिंह, राजगुरु एवं सुखदेव को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। उनके जीवनवृत्त सह कृतित्व पर प्रकाश डाला।
भगत सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि के पश्चात मंच के सचिव राजेश झा ने अदम्य साहस और संकल्प के धनी महानायकों के स्वतंत्रता संग्राम में अमूल्य अवदान को रेखांकित करते हुए देश के उत्थान और अभिरक्षा के लिए युवाओं से भगत सिंह की लिखी रचनाओं को अवश्य पढ़ने और उनके विचारों को आत्मसात करने की अपील की।
राष्ट्रीय स्तर के वामपंथी विचारक मंजुल दास ने कहा कि भगत सिंह शहीद-ए-आजम के साथ-साथ बहुत बड़े शायर भी थे, जिनकी रचनाओं में राष्ट्र के प्रति सम्मान का भाव पूरी शिद्दत से परिलक्षित होता है। उन्होंने लाला लाजपत राय की लाठी से बेरहम पिटाई और उनकी मौत का बदला बटुकेश्वर दत्त के साथ मिलकर लिया। हत्यारे सांडर्स को गोलियों से भून दिया और दिलेरी के साथ फांसी के फंदे पर झूल गए।
पूर्व नगर अध्यक्ष अजीत सिंह ने कहा कि भगत सिंह के विचारों को आत्मसात कर ही हम उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं। आरएसएस के पदाधिकारी मोती सिन्हा ने केंद्र सरकार से राजगुरु, सुखदेव एवं भगत सिंह के घर परिवार की सुध लेने पर जोर देते हुए कहा कि जिस तरह श्रीराम जन्मभूमि का निर्माण किया गया उसी प्रकार इन तीनों महानायकों के जन्मस्थली को भी राष्ट्रीय धरोहर की तरह बनाया जाए। वामपंथी नेता अरुण सहाय ने भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के पदचिन्हों पर चलकर देश के किसानों, मजदूरों और वंचितों के हित में संघर्ष का नारा बुलंद करने का आह्वान किया। समाजसेवी सुभाष यादव ने अटल बिहारी वाजपेयी की कविता का अंश उद्धृत करते हुए कहा कि इन महानायकों के बलिदान का देश ऋणी है। इनके बलिदान को वो सम्मान नहीं मिला, जिसके ये हकदार हैं। रेडक्रॉस सचिव सुरजीत झा ने कहा कि भगत सिंह के तीन नारे इंकलाब जिंदाबाद, दुनिया के मजदूरो एक हो और हिंदुस्तान जिंदाबाद सर्वकालिक प्रासंगिक नारे हैं। उन्होंने भगत सिंह स्मारक सहित सभी स्मारकों के जीर्णोद्धार और सौंदर्यीकरण की अपनी मांग दुहरायी और इसके लिए आम भागीदारी की अपील की। धन्यवाद ज्ञापन वयोवृद्ध समाजसेवी सीताराम राउत ने की। शहीद की स्मारक पर पुष्पांजलि देने वालों में लोकमंच सचिव सर्वजीत झा, अमित राय, भाजपा नेता पवन झा एवं अतुल दुबे, भाजयुमो अध्यक्ष प्रियांशु राज, भाजपा नगर अध्यक्ष गप्पू सिन्हा, रक्षित कश्यप, शिवराम जायसवाल, नरेंद्र मिश्रा, सच्चिदानंद साह, प्रत्यूष रोहन, निखिल झा, प्रेमजीत साह, विवेकानंद भंडारी, प्रमोद चौधरी, दशरथ , क्रांति गुप्ता एवं प्रदीप मंडल के नाम प्रमुख हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *