सिद्धू, कान्हो ने सर्वप्रथम फूंका आजादी की लड़ाई का बिगुल: राजेश

गोड्डा: भाजपा नगर अध्यक्ष गप्पू सिन्हा की अध्यक्षता में हूल दिवस के अवसर पर स्थानीय कारगिल चौक स्थित सिद्धू कान्हो प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया और वीर शहीदों को नमन किया गया। मौके पर पूर्व जिला अध्यक्ष राजेश झा ने कहा कि भारत की आजादी में इनका महत्वपूर्ण योगदान रहा। सर्वप्रथम 1855 ई में उन्होंने आजादी का बिगुल फूंका, जिनकी बदौलत आज भारत स्वतंत्र हो पाया ।
भाजपा जिला महामंत्री कृष्ण कन्हैया ने कहा कि सिद्धू -कान्हो ने 1855-56 में ब्रिटिश सत्ता, साहुकारों, व्यापारियों व जमींदारो के अत्याचारों के खिलाफ एक विद्रोह की शुरूआत की, जिसे संथाल विद्रोह या हूल आंदोलन के नाम से जाना जाता है। संथाल विद्रोह का नारा था करो या मरो, अंग्रेजो हमारी माटी छोड़ो ।
सिद्धू कान्हो अमर रहे, चांद भैरव अमर रहे का नारा लगाते हुए इनके मार्ग पर चलने का संकल्प लिया। मौके पर भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष अजीत सिंह , भाजपा जिला युवा मोर्चा अध्यक्ष प्रियांशु राज , वरिष्ठ कार्यकर्ता पवन झा ,भाजपा नगर महामंत्री प्रेमजीत साह , भाजपा युवा नगर अध्यक्ष अजय कुमार, भाजपा नगर मीडिया प्रभारी अजय गुप्ता , आदित्य राज उपस्थित थे।