गदाल बाग ईदगाह में पसरा रहा सन्नाटा

कामिल की रिपोर्ट
बसंतराय: बुधवार को बसंतराय प्रखंड मुख्यालय स्थित ईदगाह गदाल बाग में सन्नाटा पसरा रहा। यही हाल प्रखंड क्षेत्र के मेदनीचक, रुपनी, राहा, धपरा, जहाजकित्ता आदि गांव के मस्जिद व ईदगाह का रहा।
वैश्विक महामारी कोरोना को देखते हुए ज्‍यादातर लोगों ने अपने घरों पर रहकर नमाज पढ़ी, तो कुछ लोग अपने गांव के मस्जिदों में भी पहुंचे।
कोरोना संकट को देखते हुए प्रशासन ने लोगों से घरों पर रहकर ही नमाज अदा करने की अपील की थी।
बुधवार को अहले सुबह से ही बसंतराय पुलिस ने सभी ईदगाह पर पुलिस बल की तैनाती कर दी। पुलिस दिन भर शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रयासरत रही। थाना प्रभारी रोशन कुमार ने बताया कि प्रखंड क्षेत्र में किसी भी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है। पूरे प्रखंड क्षेत्र में लोगों ने अपने घरों में एवं छत पर नमाज अदा की। नमाज के बाद लोगों ने अपने घर पर बकरे की कुर्बानी दी।
जानकारी हो कि बकरीद पर्व में मुस्लिम धर्मावलंबी सुबह मस्जिदों में नमाज अदा कर अल्लाह से देश दुनिया में अमन चैन की दुआ करते हैं। सभी एक दूसरे को ईद की बधाई देते हैं। फिर अपने घरों में बकरे की कुर्बानी करते हैं। कुर्बानी का अर्थ है दूसरे के लिए अपने सबसे प्यारी चीज की कुर्बानी करना या बलिदान करना। कोरोना वायरस के चलते मस्जिदों एवं ईदगाह में अभी सामूहिक रूप से नमाज अदा करने पर पाबंदी है। कोरोना महामारी के कारण ही पूर्व में रमजान में तरावीह और ईद उल फितर के बाद अब ईद-उल-अजहा की नमाज भी लोग घरों में रहकर ही अदा की।