सिरा सीता धाम के विकास मामले में मुख्यमंत्री के पहल के बाद विधायकों में श्रेय लेने की होड़ मची : हंदू भगत

गुमला: आदिवासी सरना समुदाय के धार्मिक स्थल सिरा सीता नाला को पर्यटन स्थल का दर्जा दिए जाने एवं इसके विकास के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के द्वारा फंड निर्गत किए जाने के बाद गुमला जिले के विधायकों में श्रेय लेने की होड़ मच गई। इस संबंध में सरना समिति गुमला के अध्यक्ष हंदू भगत ने प्रेस बयान जारी कर कहा है कि झारखंड विधानसभा सत्र के दौरान मांडर के विधायक बंधु तिर्की के द्वारा सिरा सीता नाला को पर्यटन स्थल का दर्जा दिए जाने की मांग की गई थी इसके बाद राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आदिवासी सरना धर्मावलंबियों के धार्मिक स्थल के विकास के लिए करीब 4:30 करोड़ रुपए की स्वीकृति दी गई है। श्री भगत ने कहा है कि मांडर के विधायक बंधु तिर्की के सार्थक पहल से राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के द्वारा सिरा सीता नाला धाम के विकास के लिए फंड निर्गत कर दिया गया इसके बाद गुमला जिले के झारखंड मुक्ति मोर्चा के बिशुनपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक चमरा लिंडा गुमला विधानसभा क्षेत्र के विधायक भूषण तिर्की मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र एवं बुके आदि देकर आभार जताने का कार्य की जा रही है।उन्होंने कहा है कि गुमला जिले के डुमरी प्रखंड क्षेत्र में सिरा सीता धाम स्थित है इसके बाद भी गुमला जिले के विधायकों के द्वारा इस मामले को पूर्व में नहीं उठाया गया और जब मांडर के विधायक के द्वारा इस मामले को विधानसभा में उठाई गई तब मुख्यमंत्री के द्वारा इसके विकास के लिए पहल किए जाने पर अब गुमला जिले के विधायकों में भी सिरा सीता धाम के विकास के लिए पहल किए जाने का श्रेय लेने के लिए होड़ मच गया है। उन्होंने कहा कि सरना धर्मावलंबी का आस्था सिरा सीता धाम नाला से जुड़ा हुआ है और यहां प्रत्येक वर्ष हजारों लाखों की संख्या में सरना धर्मावलंबी जुटते हैं। इसलिए वोट की राजनीति में फायदा लेने के लिए अब मुख्यमंत्री को बधाई देकर आभार जता रहे हैं। जो विधायकों के ओछी मानसिकता को दिखा रही है। श्री भगत ने कहा है कि गुमला के विधायक भूषण तिर्की आंजन धाम के विकास के लिए मुख्यमंत्री को पत्र देकर मांग कर रहे हैं ।जबकि पिछली बीजेपी की रघुवर दास की सरकार के द्वारा ही आंजन धाम को पर्यटन स्थल का दर्जा देते हुए ₹180000000 की स्वीकृति पथ निर्माण एवं अन्य कार्य के लिए निर्गत कर दी गई थी जिसका निर्माण कार्य पूरा लगभग हो चला है। श्री भगत ने कहा है कि विधायक भूषण बगैर क्षेत्र भ्रमण किए मुख्यमंत्री से आंजन धाम के विकास के लिए फंड निर्गत करने की मांग कर रहे हैं। श्री भगत ने कहा कि अंजन धाम के विकास को लेकर पूर्व में मेरे द्वारा कई बार पदयात्रा एवं धरना प्रदर्शन आदि का रंजन नाम को पर्यटन स्थल का दर्जा दिलाने के लिए प्रयास किया गया जिसका परिणाम है कि आंजन धाम तक आने जाने के लिए अब सड़कों का निर्माण हो चुका है इसके साथ ही वहां ठहरने पेयजल आदि की सुविधा भी कर दी गई है। श्री भगत ने गुमला जिले के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल टांगीनाथ धाम के विकास के लिए विशेषकर पथ निर्माण कार्य के लिए राज्य की सरकार से कार्रवाई करने की मांग की है। गौरतलब है कि यहां के स्थानीय सांसद श्री सुदर्शन भगत डुमरी प्रखंड क्षेत्र के निवासी हैं। टांगीनाथ तक पहुंच पथ निर्माण नहीं होने पर चिंता व्यक्त करते हुए हंदु भगत नेकहां की जल्द अब इसके लिए धरना प्रदर्शन एवं पदयात्रा का आयोजन की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *