श्रीदास स्कूल में स्लोगन लेखन प्रतियोगिता का आयोजन

मंजिल उन्हीं को मिलती है, जिनके सपनों में जान है:-रोहित सिंह

संवाददाता बरही

बरही (हजारीबाग): बरही के देवचंदा मोड़ स्थित श्रीदास इंटरनेशनल स्कूल में कोरोनाकाल में भी विद्यार्थियों के चौमुखी विकास के लिए तत्पर है। ऑनलाइन पढ़ाई जारी रखने के साथ-साथ हर एक क्रियाकलाप में सक्रिय होकर अपना योगदान निभा रहा। सोमवार को ऑनलाइन क्लासेस के माध्यम से बच्चों एवं शिक्षकों के बीच स्लोगन लेखन प्रतियोगिता आयोजित की गई। स्लोगन लेखन का विषय में बढ़ती जनसंख्या, भ्रष्टाचार, शिक्षा, दहेज प्रथा, कोरोना वैश्विक महामारी, वृक्षारोपण आदि शामिल किया गया। विद्यार्थियों ने उत्साह के साथ इस प्रतियोगिता में भाग लिया। विद्यालय निदेशक रोहित सिंह ने बच्चों के प्रदर्शन पर उनका हौसला बढ़ाते हुए कहा कि इस तरह की प्रतियोगिताएं छात्र-छात्राओं के अंदर स्वस्थ प्रतियोगिता का संचार करता है। साथ ही साथ छात्राओं की संरचनात्मक निरंतर बनी रहती है। प्रतियोगिता में भाग लेने से विद्यार्थियों के ज्ञान वर्धन के साथ-साथ आत्मविश्वास भी बढ़ता है। वहीं उन्होंने बच्चों के बीच स्लोगन के माध्यम से बताया कि मंजिल उन्हीं को मिलती है, जिनके सपनों में जान है, पंख से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान है। प्रतियोगिता में शिक्षक शिक्षिकाओं में अमन कुमार सिन्हा, धनंजय कुमार पांडे, राकेश कुमार, उदय शंकर यादव अमरदीप कुमार पांडे, संतोष कुमार महतो, सपना कुमारी, विद्यार्थियों में कक्षा दसवीं से पायल, शैली, रिशु, सृष्टी, कौशल, कक्षा नवमी से राधा, विद्या, साइना कुमारी, पवन मेहता ,रवि कुमार, शिवम मेहता, रिचा रानी, विपुल कुमार सिंह, गुंजन रानी, तमन्ना आफरीन, नाज़िया नूरी, दानिश, निशु, शीतल, अक्षय, रिया कुमारी, कक्षा सातवीं से ब्यूटी रानी, छवि ,अभिषेक, कक्षा आठवीं से गुंजन रानी, तमन्ना आफरीन, नाज़िया नूरी, दानिश, निशु, शीतल, अक्षय, रिया कुमारी, कक्षा सांतवी से ब्यूटी रानी, छवि साक्षी, मंजीत, कोमल दिव्या अमित, अभिषेक कुमार, कक्षा छठी से पलक, बिंदिया, शिवराज, मानसी, विद्या, मिष्ठि, रेहान, सुमित, सौरभ आदि शामिल थे।