राज्य सरकार हिन्दी, मगही व भोजपुरी को झारखंड की सूची में शामिल करें, नही तो होगा उग्र आंदोलन: क्षत्रिय महासभा

रांची: अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के तत्वाधान में झारखण्ड प्रदेश के क्षत्रिय महासम्मेलन का आयोजन फोकस क्लब एंड रिसोर्ट, रिंग रोड, दलादिली में किया गया | इस कार्यक्रम के दौरान अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के प्रदेश अध्यक्ष विनय कुमार सिंह उर्फ बीनू सिंह एवं कार्यकारी अध्यक्ष मनोज कुमार पंकज उर्फ ललन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश कार्यकारिणी एवं जिला कमिटी का विस्तारीकरण किया गया | इस कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि के रूप में हुसैनाबाद के विधायक सह झारखण्ड सरकार के पूर्व मंत्री कमलेश सिंह, डा० सूर्यमणि सिंह, डा० सुरेश प्रसाद सिंह (पूर्व कुलपति), शिवपूजन सिंह, रेणु सिंह, अजय सिंह, नवीन नाथ शाहदेव, विजय सिंह (पूर्व आइ०ए०एस०), प्रतुल शाहदेव, पूनम सिंह, अर्चना सिंह आदि उपस्थित हुए | कार्यक्रम का संचालन मुख्य रूप से आदर्श सिंह एवं विजय सिंह ने संयुक्त रूप से किया |इस कार्यक्रम में प्रदेश कार्य समिति एवं जिला कमिटी का विस्तार किया गया |  साथ ही कार्यक्रम में पूरे झारखण्ड से अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के कोडरमा, गिरिडीह, सिमडेगा, हजारीबाग, चतरा, खूंटी, खलारी आदि जिला का विस्तार किया गया | साथ ही साथ सर्वसम्मति से लिया गया की संगठन को और व्यापक स्तर पर विस्तार करने हेतु व्यापक सदस्यता अभियान चलाया जायेगा | शिक्षा, चिकित्सा एवं व्यावसायिक रूप से समाज को मजबूती प्रदान करने के लिए शिक्षा, चिकित्सा एवं व्यावसाय प्रकोष्ठ का गठन किया गया | इस दौरान विगत कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री द्वारा हिन्दी, भोजपुरी, मगही भाषा पर गलत टिप्पणी का विरोध किया गया एवं भोजपुरी, मगही, अंगिका भाषा को झारखंड की सूची मे शामिल करने की मांग की गयी। साथ ही महासभा द्वारा यह चेतावनी भी दी गयी की अगर इन भाषाओं को जल्द ही सूची में शामिल नहीं किया तो महासभा द्वारा प्रदेश स्तरीय आंदोलन किया जाएगा। इस कार्यक्रम के दौरान झारखण्ड प्रदेश संरक्षक श्री अजय कुमार सिंह जी ने रांची जिला में क्षत्रिय भवन बनाने हेतु  51लाख रूपए की राशि अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा को देने की घोषणा की | इस कार्यक्रम के दौरान मुख्य रूप से संतोष सिंह, कामख्या सिंह, धीरेन्द्र सिंह, देव कुमार सिंह, सुधीर सिंह, विजय सिंह, सुनील सिंह बादल, चेतन सिंह, प्रभाकर सिंह, अलका सिंह, प्रीती सिंह, पूनम सिंह, यश सिंह परमार आदि प्रदेश पदाधिकारी उपस्थित हुए |