रामगढ महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना के द्वारा विश्व तम्बाकू दिवस पर शपथ ग्रहण किया गया

रामगढ़: रामगढ महाविद्यालय राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई – एक के द्वारा विश्व तम्बाकू दिवस के शुभ अवसर पर बढ़ते तम्बाकू के सेवन को रोकने के लिए राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों को कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ कामना राय के निर्देशानुसार स्वयंसेवक विकास कुमार के द्वारा ऑनलाइन शपथ दिलाया गया।
मौके पर वरिष्ठ स्वयंसेवक शशिकांत कुमार ने बताया कि बीड़ी-सिगरेट व अन्य तंबाकू उत्पादों का सेवन करने वाले लोग न केवल अपने जीवन से खिलवाड़ करते हैं बल्कि घर-परिवार की जमा पूंजी को भी इलाज पर फूंक देते हैं। इसके बाद भी लोग इसे लेकर जागरूक नहीं है। इन सबके बीच कोरोना महामारी की दूसरी लहर में इसका महत्व और बढ़ जाता है। क्योंकि पहली लहर में कई तंबाकू का सेवन करने वाले लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। इसके अलावा दूसरी लहर में कई लोगों की इससे मौत भी हो चुकी है। विशेषज्ञों की मानें तो तंबाकू का सेवन करने वाले लोगों को कोरोना का खतरा सबसे ज्यादा है।
साथ ही पूर्व टीम लीडर विकास कुमार ने बताया कि धूम्रपान करने वालों के फेफड़ों तक तो करीब 30 फीसद ही धुंआ पहुंचता है। यहीं धुंआ उनके फेफ ड़ों को नुकसान पहुंचाता है। ऐसे लोगों को कोरोना के वायरस ज्यादा तेजी से असर करते हैं। इसके अलावा 70 फीसदी धुंआ अन्य लोगों को नुकसान पहुंचाता है।
इतना ही नहीं तंबाकू का सेवन करने वालों को कई तरह के कैंसर और अन्य गंभीर बीमारियों की चपेट में आने की संभावना रहती है। इसमें मुंह और गले का कैंसर सबसे अधिक है।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से अजित कुमार गुप्ता,मेधा कुमारी,स्मृति भारद्वाज,श्याम कुमार, रंजन कुमार आदि अन्य स्वयंसेवक उपस्थित थे।