प्रवासी मजदूरों के लिए चेकपोस्ट एवं क्वॉरेंटाइन सेंटर में समुचित सुविधाओं का रखें ध्यान : डीसी

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: शनिवार को उपायुक्त भोर सिंह यादव एवं पुलिस अधीक्षक वाईएस रमेश की संयुक्त अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चेकनाका एवं क्वॉरेंटाइन सेंटर में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने हेतु संबंधित दंडाधिकारियो, पुलिस पदाधिकारियों, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया गया।
उपायुक्त ने कहा कि जिले में आ रहे प्रवासी मजदूरों के लिए मूलभूत सुविधाएं, जैसे: सभी प्रखंडों के चिन्हित किए गए क्वॉरेंटाइन सेंटरों में खानपान की व्यवस्था, पेयजल, शौचालय, बिजली आदि की व्यवस्था बेहतर ढंग से प्रबंध किए जाएं। चेकनाका पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी अपने कार्यों का निर्वहन सही रूप से करें।
उपायुक्त ने कहा कि जिले से सटे समीपवर्ती राज्यों से आने वाले प्रवासी मजदूरों पर विशेष नजर रखी जाए। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच सरकार ने निर्णय लिया है कि झारखंड लौटने वाले प्रवासी मजदूरों को कोविड टेस्ट (रैपिड एंटीजन टेस्ट) कराना अनिवार्य होगा। वहीं टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने के उपरांत भी मजदूरों को 7 दिनों तक क्वॉरेंटाइन में रहना होगा। वहीं टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद निर्धारित कोविड प्रोटोकॉल के तहत इलाज किया जाएगा। इस बाबत सरकार द्वारा आदेश भी जारी किया गया है।
जारी आदेश के मुताबिक कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए जांच का दायरा बढ़ाने की आवश्यकता है। राज्य सरकार द्वारा दिशा निर्देश के आलोक में उपायुक्त ने जिले के सभी प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों को दूसरे राज्यो से गोड्डा जिला आने वाले सभी प्रवासी मजदूरों का जांच अनिवार्य रूप से कराने का निर्देश दिया।

पुलिस अधीक्षक श्री रमेश ने राज्य सरकार के द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन का जिले में सख्ती से अनुपालन कराने का निर्देश संबंधित पदाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को दिया। साथ ही उन्होंने कोविड-19 में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रुप से कार्य कर रहे सभी कर्मियों का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि अब तक आप सभी के अथक प्रयास से हम लोगों ने जिले में बेहतर कार्य किया है ।लेकिन इस कार्य को हमें आगे भी जारी रखना है। उन्होंने कहा कि चेकपोस्ट पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कार्यों का निर्वहन करें। उन्होंने पुलिस पदाधिकारियों से कहा कि चेकनाकाओ पर सख्ती बरती जाए। यदि किसी प्रकार की परेशानी होती है तो इसकी सूचना तुरंत जिला प्रशासन को दे। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कहा कि जिन पुलिस पदाधिकारियों व कर्मियों के द्वारा कोविड-19 का दूसरा टीका नहीं लिया गया है वे ससमय कोविड-19 का दूसरा अवश्य टीका लें ।उन्होंने कहा कि चेकनाकाओ पर विशेष व्यवस्था जैसे: कुर्सी, टेबल, सीसीटीवी कैमरा, बिजली, पानी, शौचालय की समुचित व्यवस्था हो। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि प्रवासी मजदूरों की जांच के लिए समुचित प्रबंध किए जाएं।
बैठक में सिविल सर्जन गोड्डा डॉ0 शिव प्रसाद मिश्रा के द्वारा प्रवासी मजदूरों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने हेतु स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में कार्यपालक दंडाधिकारी सह जिला नजारत उपसमाहर्ता मनोज कुमार के द्वारा जिले में कार्यरत सभी प्रखंडों में इंसीडेंट कमांडरों को निर्देश दिए गए कि अपने-अपने क्षेत्रों में प्रवासी मजदूरों के लिए आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए।

मौके पर अपर समाहर्ता जुल्फिकार अली, अनुमंडल पदाधिकारी गोड्डा ऋतुराज, अनुमंडल पदाधिकारी महागामा जितेंद्र कुमार देव, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी गोड्डा आनंद मोहन सिंह, विभिन्न प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, थाना प्रभारी, सहित संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *